फुलवरिया में हो रहा कोशी से कटाव एक आपदा है : नागेंद्र सिंह त्यागी

khagaria
फुलवरिया में हो रहा कोशी से कटाव

खगड़िया: युवा शक्ति का एक शिष्टमंडल बुधवार को संगठन के प्रदेश अध्यक्ष नागेंद्र सिंह त्यागी के नेतृत्व में जिले के गोगरी प्रखंड अंतर्गत बलतारा पंचायत के फुलवरिया गांव का दौरा किया. जहां कोशी नदी के कटाव से गांव के दर्जनों घरों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. कोशी नदी से हो रहे भीषण कटाव पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए युवा शक्ति के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि यह कटाव वास्तव में एक आपदा है. साथ ही उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा के कई स्वरूप हैं और जब कटाव की कोई संभावना न हो फिर भी नदी से यदि कटाव हो रहा हो तो निश्चय ही इसे एक आपदा के रुप में लिया जा सकता है. वहीं उन्होंने कहा कि आकस्मिक आपदा का समाधान आपातकालीन स्तर पर किया जाना चाहिए. लेकिन मामले में शासक एवं प्रसाशन की असंवेदनहीनता सावित कर रहा है कि फुलवरिया गांव के लोग कोशी एवं भगवान के रहमोकरम पर ही जिंदा है.

khagaria

मौके पर उन्होंने स्थानीय विधायक को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जो जनप्रतिनिधि कटाव जैसी समस्या को आने के बाद भी यह कहे कि ‘नदी किनारे गांव है तो कटेगा ही और इसका समाधान भगवान भी नहीं कर सकते हैं’, ऐसे जनप्रतिनिधि को अपने पद पर एक मिनट भी बने रहना उचित नहीं है.वहीं उन्होंने कहा कि सरकार यदि चाहे तो समुद्र में भी पुल बन सकता है.ऐसे में सोचा जा सकता है कि यदि सरकार में इच्छाशक्ति हो तो किसी नदी की धारा को मोड़ने में उन्हें कितना वक्त लगेगा.

वहीं उन्होंने कहा कि यदि सरकार चाहती तो पौरा, लौंगा, छोटी फुलवरिया चार-चार बार नहीं कटती. अब बड़ी फुलवड़िया की बारी है और यदि अब भी सरकार संवेदनहीन बनी रही तो पुरे गांव को कोशी में समाने से कोई रोक नहीं सकता है. वहीं उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समीक्षा यात्रा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह सरकारी पैसे का बर्बादी है. यदि समीक्षा ही करना है तो बढ़ते अपराध, भ्रष्टाचार,प्रशासनिक पदाधिकारी की तानाशाही और जनप्रतिनिधियों की संवेदनहीनता का समीक्षा करें.

समीक्षा यात्रा के नाम पर करोड़ों के बंदरबांट से यदि कोशी कटाव के पीड़ितों को महलम मिल पाता तो सरकार की बड़ी सफलता होती. वहीं उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से आह्वान किया कि 6 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समीक्षा यात्रा के दौरान अपनी समस्या के निदान के लिए आवाज बुलंद करें.

शिष्टमंडल में युवा शक्ति के कार्यकारी जिलाध्यक्ष अभय कुमार गुड्डू, सरोज सिंह, दिलीप सिंह, सुनील सिंह, हरिबोल सिंह, बौआ यादव, मिथिलेश सिंह, देवेंद्र महंथ, राकेश सिंह, इंकू सिंह,रुपेश सिंह, मुकेश सिंह, रजनीश कुमार,अभिमन्यु कुमार, पप्पू आदि शामिल थे.