हृदय गति रूक जाने से गृह रक्षक की मौत, गश्त से कुछ घंटे पूर्व ही लौटे थे

खगड़िया : जिले के चौथम थाना में अतिरिक्त विधि व्यवस्था को ले प्रतिनियुक्त गृह रक्षक विनोद कुमार ठाकुर की मौत गुरूवार की सुबह हो गई. बताया जाता है कि अगले सुबह करीब 4 बजे वे गश्ती से बैरक वापस पहुंचे और अन्य साथियों के साथ वो बैरक में सो गए. गुरूवार की सुबह करीब 6 बजे सभी जवान जगे और विनोद ठाकुर को भी जब जगाने का प्रयास किया गया तो वे अचेत अवस्था में पड़े पाये गये.
संभावना व्यक्त की जा रही है कि उनकी मृत्यु ह्दय गति रूक जाने से हुई है.आनन-फानन में इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दी गई और इसके उपरांत उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया. पोस्टमार्टम के बाद बिहार गृह रक्षा वाहिनी कार्यालय में लाये गये जवान के शव को सम्मान के साथ शोक सलामी देते हुए उन्हें अंतिम विदाई दी गई.


वहीं बिहार रक्षा वाहिनी स्वयंसेवक संघ के जिला अध्यक्ष रंजन कुमार ने बताया कि विनोद ठाकुर बड़े ही मिलनसार और ड्यूटी में मुस्तैदी रहने वाला जवान थे.साथ ही उन्होंने उनकी याद हमेशा आते रहने की बातें कहते हुए उनकी आत्मा के शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई.मौके पर उन्होंने बताया कि संघ एवं चौथम थाना अध्यक्ष के द्वारा मृतक जवान के पुत्र को उनके अंतिम संस्कार के लिए सहयोग राशि दिया गया है.

नम हुई हर आँख

वहीं गृह रक्षा वाहिनी के कंपनी कमांडर भोला प्रसाद यादव, महेंद्र यादव, पुलिस लाइन के प्रचारी प्रवर संतोष कुमार सिंह के द्वारा शव पर पुष्पमाला एवं चादर अर्पित किया गया. मौके पर सियाशरण महतो, गृह रक्षक संघ के सचिव विनोद शर्मा, कोषाध्यक्ष राजीव कुमार, उपाध्यक्ष अजय कुमार मिश्र आदि मौजूद थे.