शराबबंदी की वर्षगांठ पर जिले में पकड़ी गई शराब

खगडिया: बिहार विधान-सभा चुनाव में महागठबंधन की जीत के बाद सरकार बनने के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बडा कदम उठाते हुए सूबे में शराबबंदी लागू की थीं. वह दिन 5 अप्रैल 2016 का था. इस लिहाज से देखें तो आज सूबे में शराबबंदी की वर्षगांठ है. बावजूद इसके वर्ष भर सूबे सहित जिले में पुलिस द्वारा विभिन्न स्थानों पर शराब बरामदगी का दौर चलता रहा और अवैध शराब का कारोबार चलता रहा. शराबबंदी की वर्षगांठ के दिन भी बुधवार को जिले के पसराहा थाना क्षेत्र से शराब बरामद होने की सूचना है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार पसराहा थाना की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर भिमरा नवटोलिया में छापेमारी कर शराब सहित पुलकित यादव एवं बिरऩ यादव को गिरफ्तार किया है. मौके पर पुलिस को 750 एमएल की 40 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद करने में भी सफलता हाथ लगी है. सिर्फ वर्ष 2017 में जिले में शराब की कुछ बडी खेप की बरामदगी की बात करें तो जनवरी माह में नगर थाना क्षेत्र से एक सफारी गाडी से 253 बोतल शराब पुलिस द्वारा बरामद की गई थीं. वहीं फरवरी माह में पसराह पुलिस ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 31 पर वाहनों की तलाशी के दौरान 70 कार्टन विदेशी शराब के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार किया था. बरामद शराब की कीमत 10 लाख रूपये से अधिक की बताई गई थीं.जिसे पश्चिम बंगाल के सिलीगुडी से लाई जा रही थीं.

वहीं फरवरी माह में महेशखूंट थाना क्षेत्र के झिकटिया गांव से पुलिस ने 118 बोतल विदेशी शराब के साथ एक व्यवसायी को गिरफ्तार किया गया था.वहीं बीते माह मानसी रेल पुलिस ने हाटेबजारे ट्रेन के स्लीपर कोच से बैग में भरे 15 बोतल विदेशी शराब बरामद किया था.साथ ही मानसी थाना क्षेत्र के एकनियां में एक दुकान से बीयर की 35 बोतलें भी मिली थीं.बीते वर्ष सूबे में शराबबंदी लागू होने के कुछ ही दिनों के बाद अप्रैल माह के तीसरे सप्ताह में पुलिस ने बेलदौर थाना क्षेत्र से चार ट्रैक्टर शराब बरामद कर सनसनी फैला दी थी. उक्त शराब की कीमत लगभग 15 लाख रूपये से अधिक की आंकी गई थीं. इसके बाद तो जिले में विभिन्न थाना क्षेत्रों से पुलिस द्वारा शराब बरामद करने के किस्से लगातार वर्ष भर चलता ही रहा और वो दौर आज भी जारी है.