हड़ताल के साथ धरना का हुआ शुरुआत

खगड़िया : विभिन्न मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन की महिलाओं ने चरणबद्ध आंदोलन के लिए कमर कस लिया है. उल्लेखनीय है कि बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के आह्वान पर राज्यव्यापी आंदोलन के तहत 24 मार्च से ही आंगनबाड़ी कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं.
वहीं कर्मियों द्वारा 27 से 31 मार्च तक सभी बाल विकास परियोजना परिसर में धरना दिया गया था और वहां के पदाधिकारी को अपना मांग पत्र सौंपा था. लेकिन मांगों के प्रति कोई सार्थक पहल नहीं होते देख 3 से 7 अप्रैल तक समाहरणालय द्वार पर धरना कार्यक्रम की शुरूआत सोमवार से कर्मियों ने की. जिसका नेतृत्व जिला महासचिव कुमारी निर्मला कर रही थीं. मौके पर जिला अध्यक्ष प्रेमलता मिश्रा, जिला उपाध्यक्ष वीणा यादव, जिला कोषाध्यक्ष गीता कुमारी,सदर प्रखंड महासचिव मीनाक्षी कुमारी, गोगरी प्रखंड महासचिव अनीता देवी, चौथम प्रखंड अध्यक्ष गौरी देवी, अलौली प्रखंड अध्यक्ष उषा देवी, परबत्ता प्रखंड अध्यक्ष कमला कुमारी, मानसी प्रखंड अध्यक्ष इसरत परवीन एवं बेलदौर प्रखंड अध्यक्ष उर्मिला कुमारी आदि ने भी मौके पर धरना को संबोधित करते हुए अपनी मांगों को रखा. इस अवसर पर संगठन के महिला नेत्रियों ने बिहार सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि सरकार महिला को संबल बनाने के लिए कदम तो बढ़ाया लेकिन उनके मन में कहीं न कहीं महिलाओं को ठगने की मंशा भी दिख रही है. इसका प्रमाण है कि सरकार आंगनबाड़ी कर्मियों से काम पूरा लेती है पर मानदेय के नाम पर अन्य कर्मियों की तुलना में बहुत कम रूपये दिया जा रहा है.
सरकार की यह दोहरी नीति अब हम महिलाएं बर्दाश्त नहीं करेंगी.साथ ही मौके पर काम का उचित मेहनताना देने की मांग मौके पर रखी गईं. वहीं अन्य सुविधा भी मुहैया कराने की बातें कही गई. लंबित मानदेय की राशि का एक मुस्त भुगतान की मांग सहित प्रतिमाह समय पर मानदेय का भुगतान सुनिश्चित करने की बातों पर बल दिया गया. वहीं प्राइवेट स्कूलों में 6 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के नामांकन पर रोक लगाने की अपनी मांग को भी कर्मियों ने मौके पर रखा. साथ ही आंगनवाड़ी भवन के लंबित किराया को 750 की दर से भुगतान व आंगनबाड़ी में आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने की बातों को भी रखा गया. इसके साथ ही इस अवसर पर अपनी अन्य कई मांगों को भी वक्ताओं ने मौके रखा. कार्यक्रम में सौ से अधिक संख्या में आंगनबाड़ी सेविकाएं उपस्थित थीं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*