युवा शिक्षक की कैंसर से मौत

किशनगंज/दिघलबैंक: प्रखण्ड के टप्पु हाट स्थित नकुल कोचिंग सेंटर के संचालक शिक्षक नकुल कुमार सिंह का आज आकस्मिक निधन हो08-10-2016 गया. नकुल के असमय मृत्यु की खबर सुनते ही युवा वर्ग एवं समाज के लोगों स्तब्ध है.
 मृतक के पिता रघु नन्दन सिंह ने बताया कि उनका सबसे छोटा पुत्र नकुल पिछले छः माह से बीमार चल रहा था.
स्थानीय डॉक्टरों सहित कई बड़े डॉक्टरों से इलाज कराया गया पर उसका कोई फायदा नही हुआ. डॉक्टरों की सलाह पर अच्छे इलाज के लिए दिल्ली स्तिथ राजीव गांधी केंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के बड़े डॉक्टर डीसी.डोवेल और उनके सहयोगी डॉक्टर अजय शर्मा से इलाज कराया गया जहाँ डॉक्टरों ने बोन केंसर होने की पुष्टि की. चार महीने से चल रहे इलाज से धीरे-धीरे स्वास्थ्य लाभ भी होने लगा था पर अचानक 10 दिनों पहले डॉक्टरों ने जबाब दे दिया फिर मरीज़ को दिल्ली से घर लाया गया.

इलाज के दौरान दिल्ली में साथ रहने वाले मृतक युवक के दोस्त विकास कुमार सिंह ने बताया कि डॉक्टरों ने पहले ही बता दिया था कि नकुल कैंसर के आखिरी स्सेटेज पर है और वह ज्यादा दिनों तक नहीं रह सकता.

बचपन से नकुल के साथ वक्त गुजारने वाले दोस्त कृष्णा कुमार, रामानेन्दू, बजरंग, जयन्त, शिव नारायण ने बताया कि नकुल सभी का प्यारा था. वह न सिर्फ एक अच्छा शिक्षक था बल्कि  ऑलराउंडर क्रिकेटर के तौर पर भी उसकी पहचान थी. जिला स्तरीय कई प्रतियोगिताओं में उसने मेडल भी हासिल किया था.

नकुल की मृत्यु की खबर सुनते ही कोचिंग में पढ़ने वाले बच्चे एवं उनके अभिभावक सहित मंगुरा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि ललित कुमार , पूर्व मुखिया मुस्लिम, मुखिया प्रतियाशी बेवी साह, प्रमोद साह, तारकेश्वर गोस्वामी, कृष्णा कान्त ठाकुर, मो.अमिन, मनोज भगत पूरे समाज के लोग नकुल के अंतिम दर्शन को पहुंचे. नकुल की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसकी मौत के बाद आज पूरे इलाके की दुकानें शोक में बंद रही.

%e0%a4%bf%e0%a5%8d%e0%a5%81

1 Comment

  1. बहुत दुखदायी समाचार है. वैसे तो किसी भी इंसान का इस संसार से जाना दुखदायी होता है, तिस पर किसी अपने का बिछुड़ने का शोक तो शब्दों की सीमा से परे है और इंसान का चला जाना तो इंतहा है दुःख, शोक और लाचारी की ! यक-बा-यक उस की तो पूरी दुनिया ही बदल जाती है…………! मैं सातों जहां के मालिक से दिल से प्रार्थना करता हूँ कि बिछुड़ी आत्मा को अपने चरणो में जगह दे और शोकग्रस्त परिवार को इस दुःख को सहने की शक्ति दे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*