‘समय पर एम्बुलेंस मिल गई होती तो बच जाती मेरी ननद की जान’

मोतिहारी, विकास कुमार गुप्ता: मेहसी थाना क्षेत्र के काजिटोला महमदा गांव में रविवार के रात तकरीबन सात बजे सांप काटने से एक महिला की मौत हो गई. मृतक की पहचान गांव के ही मुरारी साह के पत्नी कांति देवी के रूप में हुई. घटना को लेकर मृतक के मायके वाले ने मौत का जिम्मेवार अस्पताल प्रशासन को बताया हैं. मामले में बरुराज थाना क्षेत्र के सिसवां गांव निवासी मृतक के भौजाई प्रभा देवी ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भेजकर मेहसी पीएचसी प्रभारी के विरुद्ध अविलंब कार्रवाई की मांग की हैं.

इस सबंध में मृतिका के भतीजा भौजाई प्रभा देवी ने बताया कि रविवार के रात ननद कांति देवी अपने घर मे अकेली बैठकर पूजा कर रही थी. उनका ध्यान पूरी तरह भक्ति में था. इसी बीच अचानक कहीं से सर्प निकलकर आया और उन्हें काट लिया. फिर इस बात की जानकारी उन्होंने आसपास के ग्रामीणों को दी. ग्रामीणों ने पूरे गांव में चारपहिया गाड़ी किराये पर अस्पताल ले जाने के लिए खोजे. लेकिन एक भी गाड़ी नहीं मिल पाई. फिर मृतिका के मायके वाले ने मेहसी पीएचसी प्रभारी के सरकारी नंबर पर बातचीत कर एंबुलेंस भेजने के लिए लंबे समय तक अर्जी लगाया.

पीएचसी प्रभारी ने मृतिका के मायके वाले को बताया कि सरकारी अस्पताल में एम्बुलेंस की कोई व्यवस्था नहीं है. सब एम्बुलेंस प्राइवेट से चल रही हैं. इसलिए मैं कोई मदद नहीं कर सकता हूं. एम्बुलेंस की आस गाड़ी की तलाश में लोग भटकते रहे. लेकिन समय पर एम्बुलेंस नहीं मिल पाई. फिर मायके वाले ने मोटरसाइकिल से उन्हें मेहसी ले गये. मेहसी से किराये पर बुलेरो लेकर वे लोग मुजफ्फरपुर प्रभात तारा अस्पताल गए. लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

लोगों ने बताया कि काश मौके पर एम्बुलेंस सुविधा मिल गयी रहती तो शायद उनकी जान नहीं जाती. मौत के बाद गांव में कोहराम मच गया. पूरा परिवार रोने बिलखने लगे. सोमवार के देर शाम मृतिका के शव को ग्रामीणों ने विधिवत दाह संस्कार कर दिया. घटना को लेकर गांव में चर्चाएं होती रही. लोगों ने बताया कि मुरारी साह की पत्नी कांति देवी हरसमय भक्ति में लीन रहती थी. वे बहुत अच्छे स्वभाव की थी. उनकी मौत से गांव में सन्नाटा पसर गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*