आचार संहिता लागू होते ही डीएम ने 2 महीने के लिए मुंगेर जिले में लगाया धारा 144

मुंगेर (सुनील जख्मी): निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा करने के साथ ही मुंगेर जिले में निर्वाचित पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी राजेश मीणा ने 60 दिनों के लिए धारा 144 लागू कर आज पत्रकारों को समाहरणालय सभाकक्ष में संबोधित करते हुए बताया कि आदर्श आचार संहिता 10 मार्च से लागू कर दी गई है. उन्होंने कहा कि जन भावना को भड़काने, आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने बताया कि मुंगेर संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत 1920 मतदान केंद्र है. मुंगेर लोकसभा में मुंगेर विधानसभा जिसमे तीन लाख अट्ठाइस हजार एक सौ छियासी, जमालपुर तीन लाख तेरह सात सौ उनहत्तर, सूर्यगढ़ा तीन लाख उनतीस हजार एक सौ ऊना सी, लखीसराय तीन लाख सत्तावन हजार सात सौ तेहत्तर, मोकामा दो लाख सरसठ हाजर दो सौ छियालीस, तथा बाढ़ विधानसभा में दो लाख चौहत्तर हाजत आठ सौ चालीस मतदाता सहित छह विधानसभा में कुल अठारह लाख सत्तर हजार नौ सौ तेरानवे मतदाता हैं.

मुंगेर लोकसभा के लिए चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होना है. इसके लिए 2 अप्रैल को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा. नामांकन की प्रक्रिया 9 अप्रैल से, नामांकन स्कूटनी 10 अप्रैल, नामांकन वापस लेने की तिथि 12 अप्रैल, मतदान की तिथि 29 अप्रैल, वोट की गिनती 23 मई एवं सभी प्रक्रिया 27 मई तक पूरी कर ली जाएगी.

डीएम ने बताया कि मुंगेर लोकसभा में मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय राजनीतिक दलों की संख्या ग्यारह है. जिसमें बहुजन समाज पार्टी, भारतीय जनता पार्टी, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया मार्क्सवादी, इंडियन नेशनल कांग्रेस, नेशनल कांग्रेस पार्टी, तृणमूल कांग्रेस पार्टी, जनता दल यूनाइटेड, लोक जनशक्ति पार्टी, राष्ट्रीय जनता दल तथा राष्ट्रीय लोक समता पार्टी है.

उन्होंने कहा कि मुंगेर जिला में कुल 3 विधानसभा है, जिसमें तारापुर विधानसभा जमुई लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है. यहां 10 अप्रैल को मतदान होगा. मुंगेर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत मुंगेर जिला के मुंगेर विधानसभा तथा जमालपुर विधानसभा है. संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरक्षी अधीक्षक गौरव मंगला ने कहा कि मुंगेर जिला प्रशासन का कर्तव्य है.

भयमुक्त एवं निष्पक्ष तरीके से निर्वाचन की प्रक्रिया संपन्न करवाए. उन्होंने कहा कि मुंगेर नक्सल प्रभावित जिला है. इसमें अधिक बूथ नक्सली क्षेत्र है. इसके लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए है. उन्होंने कहा कि इसके लिए 9581 व्यक्ति पर 107 किया गया. कुख्यात पर सीसीए एक्ट के लिए भी जिला पदाधिकारी से निर्देश मांगा गया है. 18 कुख्यात को दूसरे जिला भेजने के लिए जिला अधिकारी को पत्र लिखा गया है. 50 से अधिक चेक पोस्ट बनाए गए हैं. जिले के बाहर आउटपोस्ट बनाए गए हैं. विधानसभा बॉर्डर सीलिंग का कार्य हो रहा है. प्रशासन सुरक्षा और भयमुक्त वातावरण में निष्पक्ष तरीके से मतदान के लिए कृत संकल्पित है. संवाददाता सम्मेलन में डीपीआरओ दिनेश कुमार, जिला निर्वाचित पदाधिकारी उपस्थित थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*