दूसरे की गोद भरने के लिए बच्चे का किया था अपहरण, 12 घंटे के अंदर पुलिस ने दो को पकड़ा

नालंदा (संतोष कुमार): ढाई वर्षीय बालक के अपहरण के मामले का खुलासा पुलिस ने कांड दर्ज होने के महज 12 घंटे के अंदर कर लिया है. पुलिस ने अपहृत हुए बालक को सकुशल बरामद कर एक महिला सहित दो अपहर्ताओं को गिरफ्तार किया है. हिलसा थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर गांव निवासी ज्ञानेंद्र रविदास के ढाई वर्षीय पुत्र अभिषेक कुमार का अपहरण उस समय कर लिया गया था. जब वह बीते शनिवार को गांव के खलियान में अन्य बच्चों के साथ खेल रहा था परिजनों ने काफी खोजबीन की पर कहीं पता नहीं चला तो अंत में पुत्र के अपहरण की आशंका पर रविवार की शाम हिलसा थाना में मुकदमा दर्ज कराया गया.

बता दें कि इसके बाद डीएसपी मुत्तफिक अहमद के नेतृत्व में पुलिस अधिकारियों का एक विशेष टीम का गठन कर जगह- जगह पर छापेमारी की जा रही थी. सोमवार की सुबह पुलिस को भनक लगी कि बच्चा को गोद में लेकर एक महिला व पुरुष हिलसा से बाहर जाने की फिराक में गाड़ी पकड़ने का इंतजार कर रहा है. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों को धर दबोचा. उसके पास से बालक को सकुशल बरामद कर लिया. पुलिस ने गांव के ही अनिल रविदास के पुत्र बबलू रविदास एवं सुबोध रविदास की पत्नी रिंकू देवी को गिरफ्तार किया है.

डीएसपी मुत्तफिक अहमद ने बताया कि से पूछताछ में खुलासा हुआ कि रिंकु देवी अपने किसी रिश्तेदार को बच्चा नहीं होने पर बच्चा ला कर देने की बात पचास हजार में तय की थी. पैसा का प्रलोभन देकर यह जिम्मेवारी बबलू को दी. अभिषेक जब खेल रहा था उसी समय मौका देखकर बबलू और रिंकू देवी ने उसे गोद में लेकर कपड़ा से छिपाकर एक ऑटो से हिलसा शहर के बुढ़वा महादेव स्थान के पास करीब 3 घंटे तक रखा. उसके बाद रिंकू का रिश्तेदार बच्चा को लेने आया पर तय की गई राशि नहीं मिलने पर बच्चा को नहीं सौंपा.

इसके बाद जब दोनों को पता चला कि उसे पुलिस ढूंढ रही है तो बच्चा को और किसी के हाथ हाथों बेचने के लिए गाड़ी पकड़ने की फिराक में सिनेमा मोड़ के पास खड़ी थी. इसके बाद पुलिस ने उसे दबोच लिया. छापेमारी में थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर प्रेम राज चौहान, ज्ञानेंद्र चौधरी, रामानंद सिंह, अमृत पांडे के अलावा सशस्त्र बल शामिल थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*