पत्रकार पुत्र के हत्यारे के करीब पहुंची पुलिस, जांच का जिम्मा खुद डीआईजी ने संभाला

आसुतोष आर्य पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या की जानकारी के बाद पटना प्रक्षेत्र पटना के डीआइजी राजेश कुमार दलबल के साथ नालंदा पहुंचे

लाइव सिटीज, नालंदा(संतोष कुमार):  डीआईजी ने आसुतोष आर्य पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या की जानकारी के बाद पटना प्रक्षेत्र पटना के डीआइजी राजेश कुमार दलबल के साथ नालंदा पहुंचे. डीआईजी ने घटनास्थल का निरीक्षण किया. जहां रविवार की देर संध्या पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्याकर शव को पास के पानी से लबालब गड्ढे में फेंक दिया गया था.

डीआईजी के साथ आई डॉग स्क्वायड की टीम ने घटनास्थल से कई महत्वपूर्ण साक्ष्य बटोरे. साक्ष्य के तौर पर अभी तक पुलिस को पेचकस हाथ लग गया है, जिससे अश्वनी उर्फ चुन्नू की हत्या की गई थी. कहा तो यह भी जा रहा है कि मौके वारदात से कई और आपत्तिजनक समान मिले है. इसके अलावे घटनास्थल के पास शराब पीने की डिस्पोजल ग्लास भी बरामद की गई.

कल्याण बिगहा ओपी प्रभारी मुकेश कुमार ने बताया कि पुलिस को एक पेचकस हाथ लगा है. फिलहाल विधि विज्ञान प्रयोगशाला पटना जांच के लिए भेजा जा रहा है. यह पेचकस मृतक के एक मित्र के घर में छुपा कर रखा गया था. पुलिस अभी तक 8 लोगों को हिरासत में लेकर घटना से संबंधित पूछताछ कर चुकी है. यह सही है कि अश्वनी उल्लू की हत्या अपराधियों ने निर्मम पूर्वक की.

हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि चुन्नू किन – किन के आंखों का किरकिरी बना हुआ था. वह कौन लोग थे जो इस मासूम को मारना चाहते थे. नालंदा के पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार ने बताया कि बहुत जल्द पूरे मामले को पर्दाफाश कर दिया जायेगा. हालांकि हत्या के पीछे अपराधियों की क्या मंशा थी अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है.

नालंदा के पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार ने बताया कि बहुत जल्द ही वारदात में संलिप्त सभी अपराधी पुलिस की गिरफ्त में होंगे. पुलिस अपराधियों के काफी करीब पहुंच चुकी है. घटना नालंदा जिले के हरनौत थाना क्षेत्र के हसनपुर गांव में रविवार की देर संध्या की है. युवक परिवार के साथ हरनौत में रहता था. पिछले एक महीने से चुन्नू हसनपुर गांव स्थित अपने पैतृक घर में रह रहा था. वारदात के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है.

ग्रामीणों कहते हैं कि किशोर दोपहर बाद घर से खेलने के लिए निकला था. उसके बाद से वह लापता हो गया. शाम को परिजन खोजने निकले तो गड्ढे में उसकी लाश मिली. किशोर की आंखें फोड़ उसे मौत के घाट उतारे जाने की बात कही जा रही है. घटना की खबर से नालंदा जिला के पत्रकारों में शोक की लहर दौड़ गई. नालंदा के पत्रकारों ने पुलिस प्रशासन से बदमाशों पर त्वरित कार्रवाई की मांग की है. नालंदा में पत्रकारों ने शोकसभा आयोजित कर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि दी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*