आंगनबाड़ी सेविका व शिक्षा मित्र नहीं लड़ सकते चुनाव

nikay-chunav

नवादा (रवीन्द्र नाथ भैया) : जिले में नगर निकाय चुनाव का आगाज हो चुका है. राज्य निर्वाचन आयोग ने 14 मई को चुनाव कराने की घोषणा कर दी है. आयोग ने इसके साथ ही प्रत्याशियों की अर्हता भी निर्धारित की है. इसके तहत आयोग ने स्पष्ट किया है कि आंगनबाड़ी सेविका- सहायिका, विशेष शिक्षा परियोजना, साक्षरता अभियान, विशेष शिक्षा केन्द्रों में मानदेय पर कार्यरत अनुदेशक, नगर परिषद व नगर पंचायतों के अधीन मानदेय या फिर अनुबंध पर कार्य करने वाले शिक्षा मित्र, न्याय मित्र, विकास मित्र या फिर अन्य कर्मी, पंचायत में काम करने वाले दलपति, होमगार्ड के जवान सरकारी वकील व लोक अभियोजक चुनाव नहीं लड़ सकेंगें.

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्देश में यह स्पष्ट किया गया है कि जिन लोगों को वार्ड सदस्य चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगायी गयी है. वे किसी भी प्रत्याशी का प्रस्तावक व समर्थक नहीं बन सकते है. आयोग ने कहा है कि नगरपालिका निर्वाचन में प्रस्तावक व समर्थक के लिये योग्यता निर्धारित कर दी गयी है. कोई भी व्यक्ति किसी का प्रस्तावक या समर्थक हो सकता है बशर्ते कि वह उस वार्ड विशेष की मतदाता सूचि में निबंधित हो जहां से कोई प्रत्याषी अपना नामांकन दाखिल कराना चाहता है. दूसरे वार्ड का मतदाता किसी का प्रस्तावक या समर्थक नहीं हो सकता है.

nikay-chunav
प्रस्तावक व समर्थक के लिये आवश्यक है कि वह मतदान की योग्यता रखता हो. एक वार्ड में ही कोई प्रस्तावक व समर्थक उसी वार्ड में किसी दूसरे का प्रस्तावक या समर्थक नहीं हो सकता है. यहां तक कि जिस वार्ड का वह प्रस्तावक या समर्थक बन रहा है. वह स्वयं उस वार्ड का प्रत्याशी भी नहीं हो सकता है. नामांकन पत्रों की जांच के दिन उसका 21 वर्ष की उम्र का होना आवश्यक है. उसे केन्द्र या राज्य सरकार या फिर किसी अन्य प्राधिकार में कार्यरत नहीं होना चाहिए. यहां तक कि किसी सक्षम न्यायालय से सजावार भी नहीं हो. किसी सेवा के लिये अयोग्य न ठहराया गया हो या फिर कहीं से नौकरी से बर्खास्त न किया गया हो.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*