ये कैसी शराबबंदी : थानों में नहीं है ब्रेथ इनलाइज़र, कैसे हो शराबियों की जांच

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा) : बिहार में शराबबंदी कानून को लागू हुए काफी समय बीत गया है. इस कानून को लागू कराने के लिए सरकार के तरफ से हर संभव प्रयास भी किये गए और इसका सार्थक परिणाम भी कुछ हद तक देखने को मिला. शराबियों और कारोबारियों पर नकेल कसने के लिए सरकार के तरफ से कई प्रकार की व्यवस्था को प्रभाव में लाया गया. जैसे सीमावर्ती जिले में विशेष जांच चौकियां बनाई गई. शराबियों को पकड़ने के लिये ब्रेथ एनालाइजर से उत्पाद विभाग और पुलिस को लैस किया गया. और सफलताएं मिल रही है. आये दिन ख़बर मिलती भी है कि शराबियों को नशे की हालत में पकड़ा गया. मगर यह व्यवस्था पूरी तरीके से सभी जगह नहीं लागू करायी जा सकी.

आज भी राज्य के कई जिलों में शराबियों की जांच करने के लिए ब्रेथ एनालाइजर कई थानों को मुहैया नहीं करायी गयी है. जिसके परिणाम स्वरूप वैसे थाने को मजबूरन जिले के सदर अस्पताल में मेडिकल जांच के लिए भेजा जाता है. मगर समस्या का निदान यहां भी पूरी तरह मिल नहीं पाता है. नवादा सदर अस्पताल में इन दिनों डॉक्टरों को वैसे शराबियों को जांच करने में काफी परेशानी हो रही है. ब्रेथ एनालाइजर के नहीं होने से उन्हें आज भी पुराने तरीके से ही शराबियों का मेडिकल टेस्ट करना पड़ रहा है.

जांच के क्रम में अल्कोहल पीने के प्रतिशत को डॉक्टर नहीं जांच पाते हैं. लिहाजा उन्हें केवल शराब पीने की ही पुष्टि कर पाते है. जबकि सजा का प्रावधान अल्कोहल प्रतिशत पर ही होता है. सदर अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि अस्पताल में ब्रेथ एनालाइजर तो है मगर आजतक सिविल सर्जन उसे प्रभारी डॉक्टर को सुपुर्द नहीं किये हैं. लिहाजा जब इस मामले में उत्पाद विभाग से जानकारी ली गयी तो अधीक्षक उत्पाद ने बताया कि 27 सितम्बर 2016 को ही स्वास्थ्य विभाग के विशेष अनुरोध पर उन्हें एक सेट ब्रेथ एनालाइजर मुहैया करा दी गयी है.

मगर सदर अस्पताल प्रबंधन के लापरवाही के चलते आजतक शराबियों को जांच करने में पुराने विधि का ही इस्तेमाल करना पड़ रहा है. एक साल से ज्यादा वक्त गुजर जाने के बाद भी अभी तक ब्रेथ एनालाइजर को खोला भी नहीं गया. अब देखना होगा खबर दिखाए जाने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन नींद से जागता है या नहीं. डॉक्टर प्रभाकर सिंह कहते हैं कि ब्रेथ इनलाइज़र की कमी से जांच में परेशानी होती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*