नवादा: विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन आज से शुरू

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का चार दिवसीय 59वां राज्य अधिवेशन, भगिनी निवेदिता नगर, नवादा में शुरू हो गया. विद्यार्थी परिषद के राज्य अधिवेशन के पहले दिन बिहार की वर्तमान स्थिति, बिहार की शैक्षणिक स्थिति तथा छात्र संघ के चुनाव पर चर्चा की गई. डॉ. अमरेंद्र कुमार के द्वारा परिषद का झंडोत्तोलन के साथ ही 59वां राज्य अधिवेशन शुरू हो गया. गांधी मैदान में शुरू हुए अधिवेशन के संयोजक डॉक्टर सुजय कुमार ने आगत अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि नवादा कि इस पावन धरती पर बिहार के सभी जिलों से आए प्रतिनिधियों का मैं स्वागत करता हूं, वंदन करता हूं, अभिनंदन करता हूं.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

 

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद ही एक ऐसा संगठन है जो किसी दादा और दीदी की जय नहीं, बल्कि भारत मां की जय कहता है. विद्यार्थी परिषद पूरी तरह से राष्ट्रवाद के लिए समर्पित है. उन्होंने कहा कि चाहे कश्मीर का मुद्दा हो या बंगाल का मुद्दा, हर मुद्दे पर विद्यार्थी परिषद के सदस्य डटे देखे गए हैं. प्रदेश भर से आए लगभग 3000 से ज्यादा प्रतिनिधि इस अधिवेशन में भाग ले रहे हैं.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि राकेश सिन्हा, परिषद के सह संगठन मंत्री श्रीनिवास जी, परिषद के राष्ट्रीय मंत्री किशोर रमन जी, परिषद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. कुमार मोदी जी, परिषद के प्रदेश मंत्री दीपक कुमार, नेपाल के विराटनगर से आए नोबेल मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर निरंजन जी के साथ ही नवादा के बड़े व्यवसाय तथा अधिवेशन के स्वागत समिति के अध्यक्ष राजीव सिन्हा ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

अधिवेशन के पहले सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि राकेश सिन्हा ने कहा कि नवादा की धरती का मैं नमन करता हूं. महाभारत काल के भीम पकरिया गांव आए थे. महर्षि बाल्मीकि बारत गांव आए थे तथा नवादा कौवाकोल में ही देश के प्रथम राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद और जयप्रकाश नारायण अपना समय गुजार चुके हैं. उन्होंने कहा कि जब जब देश पर समस्या आई है विद्यार्थी परिषद बढ़—चढ़कर भाग लिया है. विद्यार्थी परिषद कश्मीर मुद्दे को लेकर पहले भी संघर्षशील रही है और आगे भी संघर्षशील रहेगी.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद शरीर है तो कश्मीर उसका मुखड़ा है. हम अपने शरीर से किसी भी कीमत पर अपने मुखड़े को नहीं हटाना चाहते. कश्मीर के मुद्दे पर परिषद द्वारा हमेशा आंदोलन किया गया है और किया जाता रहेगा. उन्होंने कहा कि छात्र संगठन के साथ-साथ विद्यार्थी परिषद देश भक्तों की एक बड़ी फौज है. विद्यार्थी परिषद के संगठन मंत्री श्रीनिवास जी ने कहा कि ‘न संघर्ष, न तकलीफ, तो क्या मजा है जीने में तूफानों से भी लड़ लेते हैं, जब आग लगी हो सीने में’.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद ही ऐसा संगठन है जो वंशवाद पर नहीं चलता है. वह सीधे परिषद से जुड़े सदस्यों के सहारे ही आगे बढ़ता है. मैं धन्य हूं कि परिषद से जुड़कर आज इस मुकाम पर पहुंचा हूं. उन्होंने कहा कि विद्यार्थी परिषद किसी वंशवाद के सहारे नहीं कार्यकर्ताओं के सहारे चल रही है. उन्होंने परिषद के कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि जब-जब देश को उनकी जरूरत पड़ेगी, वह उसके लिए तैयार रहेंगे. चाहे कश्मीर का मुद्दा हो, केरल का मुद्दा हो, बंगाल का मुद्दा हो या किसी भी प्रांत का मुद्दा हो. परिषद हमेशा से राष्ट्र विकास के क्षेत्र में कार्य करती रही है और आगे भी इस तरह का कार्य करेगी.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

समारोह को परिषद के राष्ट्रीय मंत्री किशोर वर्मन जी, परिषद के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर कुमार मोती जी, प्रदेश मंत्री दीपक कुमार, विराटनगर से आए निरंजन जी विश्वविद्यालय प्रमुख डॉक्टर एवं अमरेंद्र कुमार जी ने भी संबोधित किया. स्वागत समिति के अध्यक्ष राजीव सिन्हा ने प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए परिषद के कार्यकर्ताओं का स्वागत करते हुए कहा कि नवादा की धरती आज धन्य हो गई कि इतने सारे लोग विद्यार्थी परिषद के सदस्य राष्ट्रभक्ति के साथ—साथ छात्र शक्ति के लिए भी एकजुट हुए हैं. इससे पूर्व उन्होंने आगत अतिथियों को बुके देकर स्वागत किया. चार दिवसीय अधिवेशन के दूसरे दिन देर रात तक शैक्षणिक सत्र पर भी चर्चा हुई. कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए गांधी मैदान निवेदिता नगर में काफी आकर्षक व्यवस्था की गई है.

विद्यार्थी परिषद का 59 वां राज्य अधिवेशन, नवादा

छात्र-छात्राओं के भोजन पंडाल की व्यवस्था के साथ-साथ चिकित्सकीय व्यवस्था, कैंटीन व्यवस्था एवं रहने की अलग-अलग उत्तम व्यवस्था की गई है. रविवार को परिषद के कार्यकर्ता नगर भ्रमण कर लोगों को राष्ट्रभक्ति की भावना से ओतप्रोत करेंगे. कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रोफेसर सुनील कुमार, डॉ. अंजनी कुमार पांडेय, प्रदीप कुमार, नवीन केसरी, अमित कुमार छोटी, अंकित कुमार साही, पुराने सदस्य गोपी किशन, विशाल साहनी सहित अनेक सदस्यों का योगदान देखा जा रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*