नवादा: मरीज ने खाया जहर तो डॉक्टर ने इलाज को अपनाया ये हथकंडा…

wrong behaviour, इलाज, docter, tie hand leg, treatment process, nawada news, बिहार न्यूज़, हिंदी समाचार

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में आज एक अजीब सा नजारा देखने को मिला. जहां एक मरीज का इलाज हाथ-पैर बांधकर किया जा रहा था. सभी लोग जानने को व्याकुल थे कि आखिर इस मरीज का इलाज इस तरह से क्यों किया जा रहा है. जब परिजनों से हमने पूछा तो उन्होंने शुरुआत में कुछ भी बताने से इनकार किया मगर जैसे-जैसे मरीज की हालत खराब होने लगी वैसे-वैसे परिजन धीरे-धीरे सच्चाई बोलने लगे. दरअसल पूरा मामला कल रात का है जब अकबरपुर थाना क्षेत्र के कुहिला गांव के लालो मांझी अपनी पत्नी से खाना को लेकर विवाद में उलझ गए.

पेशे से राजमिस्त्री लालो मांझी जब कल अपने घर लौटने के बाद अपनी पत्नी से रोटी की मांग की तो पत्नी ने रोटी की जगह चावल दिया. इसी बात को लेकर दोनों आपस में उलझ गए. इससे गुस्सा होकर पति लालो मांझी ने सब्जी में डालने वाले कीटनाशक दवा का सेवन करके आत्महत्या करने की कोशिश की. बहुत देर तक क्या बात किसी को पता नहीं चली. जब रात में उसकी बेचैनी बढ़ी तो लोग अपने स्तर से इलाज कराएं. मगर सुबह उनकी हालत बिगड़ने लगी तो परिजनों ने अकबरपुर पीएचसी में इलाज कराया. मगर वहां भी उन्होंने किसी को नहीं बताया की इन्होंने विषपान किया है.

यह भी पढ़ें:

नवादा में शादी के भोज में मचा कोहराम, विषाक्त खाना खाने से 20 लोग बीमार

फिर वहां से अकबरपुर पीएचसी से बेहतर इलाज के लिए नवादा रेफर किया गया. जहां शुरुआत में डॉक्टर ने अंदाज के हिसाब से इलाज किया मगर जैसे-जैसे जहर उनके खून में पहुंचने लगा वैसे-वैसे उनकी बेचैनी बढ़ने लगी. आलम यह था कि सलाइन लगाने के लिए इंजेक्शन भी किसी को लगाने नहीं दे रहे थे. वार्ड के सभी मरीज परेशान थे, समूचे वार्ड में अफरा-तफरी मचा दी. अंत में परिजनों और कुछ लोगों के मदद से उनके हाथ पैर को रस्सी से बांधा गया तब जाकर इलाज शुरू हुआ.

हालांकि डॉक्टर बताते हैं कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि जहर उनके खून में प्रवेश कर गया है और उन्हें अत्यधिक बेचैनी महसूस हो रही है. इस कारण से उन्हें नवादा से भी पटना रेफर कर दिया गया है. अंत में परिजन इलाज़ के लिए पटना निकल जाते है. मगर आज जो हालत मरीज का था वो किसी ने कभी नहीं देखा.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*