होमगार्डों को आंदोलन करना पड़ रहा महंगा, लाॅटरी से दी जा रही ड्यूटी

नवादा : आये थे हरि भजन को ओटन लगे कपास. कुछ इसी प्रकार की स्थिति होमगार्ड जवानों के साथ देख जा रही है. समान वेतन, समान काम की मांग को लेकर किया गया ढाई माह का आंदोलन अब उन्हें महंगा पड़ने लगा है. अब उन्हें ड्यूटी पर वापस आने के लिये लाॅटरी की प्रक्रिया से गुजरना पड़ रहा है. ऐसे में उन्हें अपने ही आंदोलन की आग में जलना पड़ रहा है.

बताया जाता है कि प्रभारी समादेष्टा सुबोध कुमार द्वारा सरकार के निर्देश के आलोक में विधि व्यवस्था कर्तव्य प्रतिनियुक्ति की सूची में भारी छंटनी करनी पड़ रही है. पूर्व में 331 होमगार्ड जवानों को कार्यरत सूची में शामिल किया गया था. इनमें से लाॅटरी के माध्यम से मात्र 180 जवानों को ही प्रतिनियुक्त किया जा सका है. इस प्रकार की व्यवस्था से होमगार्ड जवानों में मायूसी देखी जा रही है तथा अब वे अपने नेताओं को ही कोसने लगे हैं. अब उनकी सुध लेने वाला भी कोई नहीं है.

रजौली अनुमंडल व गोपनीय शाखा, रजौली थाना, पुलिस निरीक्षक कार्यालय, जिला निबंधन कार्यालय, अकबरपुर, वारिसलीगंज, व्यवहार न्यायालय व दंडाधिकारी आवासों सहित ढेरों जगहों पर कार्यरत कुल 90 जवानों की सेवा समाप्त कर दी गयी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*