नवादा : स्वरोजगार को लेकर बैठक, दर्जनों दलित महिलाओं ने लिया हिस्सा

nawada
स्वरोजगार को लेकर दलित टोला में बैठक

नवादा(पंकज कुमार सिन्हा): हमारा पंचायत हमारा रोजगार के तहत राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान के तत्वाधान में गोतराईन गांव के दलित टोला में स्वरोजगार को लेकर एक बैठक की गई. बैठक में दर्जनों दलित महिलाओं ने हिस्सा लिया. जिला समन्वयक धर्मदेव पासवान राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान ने बताया कि स्वरोजगार के क्षेत्र में आज भी दलित महिलाओं के लिए सैकड़ो योजनाए संचालित है, लेकिन किसी प्रकार की कोई पहल नहीं किया गया. जबकि इन सभी योजनाओं को लेकर जब बजट पास की जाती है तो प्रचार-प्रसार के लिए करोड़ो रुपैया आवंटन किया जाता है. बावजूद दलित महिलाओं तथा पुरुषों की इसकी जानकारी नहीं है. जिसका मुख्य जिम्मेदार जिला से लेकर क्षेत्रीय स्तर के जिम्मेदार पदाधिकारी है.

पासवान ने यह भी कहा कि इस गांव में सैकड़ों दलित महिला ट्रैनिंग कर भी चुकी है. आजीविका के तहत आज तक इस उम्मीद में हैं कि कोई स्वरोजगार मिलेगा. जिस प्रकार से स्वरोजगार के लिए केंद्र से लेकर जिला स्तर पर योजनाए बनाई गई है. वो ग्रासरूट स्तर तक सफल नहीं हो सका है. उन्होंने यह भी कहा कि बागवानी, उद्यमिता, स्वरोजगार एवं जीविकोपार्जन हेतु जिला स्तर के विभाग अपने कार्य के प्रति संवेदनशील नहीं है. सिर्फ खाना पूर्ति की जा रही है.

nawada

उन्होंने यह भी कहा कि अगर सरकार के जिम्मेदार अधिकारी चाह ले तो एक भी योजनाओं से कोई वंचित नहीं रहेगा. बहुत चिंता होती है यह जानकर की इतना बड़ा बजट प्रावधान के बाद भी वंचित समाज के लोग वेरोजगार हैं. राष्ट्रीय दलित मानवाधिकार अभियान के तहत जिले के 4 प्रखण्डों में दलित महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की कोशिश की जा रही है ताकि महिलाओं को शसक्त होने का अवसर प्राप्त हो सके. अपने तथा अपने परिवार के साथ अपना भरण-पोषण कर सके.

मौके पर उपस्थित बिहार राज्य अनुसूचित जाति सहकारिता विकास निगम के जिला क्षेत्रीय संगठक पदाधिकारी चंद्रदीप राम ने महिलाओं को स्वरोजगार के बारे में विस्तार से बताया. उन्होंने कहा कि अजाविनि विभाग में वैसे महिलाओं को स्वरोजगार का अवसर प्रदान करती हैं, जो बीपीएल धारी हो और उनके लिए मनिहारी दुकान, किराना दुकान, कपड़ा फेरी, चिकेन दुकान, जूता चप्पल दुकान के साथ कई ऐसे स्वरोजगार हैं. जो लाभार्थी अपने स्वेच्छा से करना चाहती है उन्हें विभाग से दस हजार सब्सिडी के साथ सर्व प्रथम पैंतीस हजार की राशि क्षेत्रीय बैंक से लिंकअप कर के दिया जाता है.

इस स्वरोजगार बैठक में कुल 45 महिलाओं ने स्वरोजगार हेतु आवेदन भरा. बैठक में डॉली देवी, रिंचु देवी, चांदो देवी, गुलाबी देवी, लालो देवी, रेखा कुमारी, विकास कुमार, कमलेश कुमार, प्रेमचंद पासवान, मिथुन कुमार इत्यादि मौजूद थे.

देखें #VIDEO : उपेंद्र कुशवाहा को लेकर भ्रम पैदा कर रहा है आरजेडी… 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*