मानव श्रृंखला को लेकर सफल बनाने के लिए डीएम ने दिया है ये निर्देश, पढ़ें…

nawada-dm

नवादा(पंकज कुमार सिन्हा): पिछले वर्ष आयोजित मानव श्रृंखला में जिस प्रकार से निजी विद्यालयों एवं कोचिंग संस्थानों ने न सिर्फ बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया था, बल्कि अपनी महत्वपूर्ण समाजिक जबावदेही का भी निर्वहन किया था. उसी प्रकार इस वर्ष भी बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन के पक्ष में सक्रिय सहयोग अपेक्षित है. उक्त बातें जिला पदाधिकारी कौशल कुमार ने समाहरणालय सभागार में कही. 21 जनवरी को मानव श्रृंखला निर्माण को लेकर आयोजित बैठक में उपस्थित जिले के सभी निजी विद्यालयों, कोचिंग संस्थानों के संचालकों को संबोधन के दौरान कही.

उन्होंने मानव श्रृंखला के निर्धारित सभी 11 रूटों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सभी विद्यालय एवं कोचिंग संस्थान अपने संबंधित बीडीओ से समन्वय कर माइक्रोप्लानिंग के अनुसार निर्धारित समय एवं स्थान पर हर हाल में पहुंच जायेंगे. उन्होंने कहा कि किसी भी हाल में कक्षा 5 तक के छात्रों की भागीदारी मानव श्रृंखला में नहीं होनी चाहिए. बच्चे अपने विद्यालय के यूनिफार्म में रहेंगे.

मानव श्रृंखला के लिए बैठक

डीएम ने कहा कि ट्रैफिक एवं सुरक्षा व्यवस्था पर विषेश ध्यान दिया जा रहा है. प्रत्येक 5 किलोमीटर पर पुलिस की पेट्रौलिंग गाड़ी होगी. साथ ही एम्बुलेंस की भी व्यवस्था रहेगी. कन्ट्रोल रूम से सीसीटीभी कैमरे द्वारा मानव श्रृंखला पर नजर रखी जायेगी.

उन्होंने कहा कि यह एक समाजिक कार्यक्रम है और समाज के प्रत्येक व्यक्ति की सक्रिय भागीदारी से बाल विवाह एवं दहेज प्रथा जैसे समाजिक बुराईयों के खिलाफ पूरे देश में एक मजबूत संदेश जायेगी. सभी निजी विद्यालय एवं कोचिंग के संचालकों ने एक स्वर में मानव श्रृंखला के निर्माण में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाने की बात कही.

बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी राजेश कुमार, डीपीआरओ परिमल कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी सुरेश चौधरी, डीपीओ भूषण कुमार सहित सभी निजी विद्यालय के संचालक एवं कोचिंग संचालक उपस्थित थे. मानव श्रृंखला में व्यापक जनसहभागिता को लेकर जिले में लगातार आयोजित होंगे कई कार्यक्रम.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*