रेल हादसा रोकने का उपाय खोज लिया नवादा के जुम्मन मिस्त्री ने, भेजेंगे रेलवे मिनिस्ट्री को

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): नवादा शहर ही नहीं, बिहार ही नहीं पूरे देश में सैकड़ों मानव रहित रेलवे क्रासिंग है. ऐसे रेलवे क्रॉसिंग पर आए दिन दुर्घटनाएं होती रहती है. नवादा से सटे वारिसलीगंज में भी क्यूल-गया रेलखंड पर सभी गांव में मानव रहित रेलवे प्लेटफार्म लाइन पर एक बोलेरो के फंस जाने के बाद ट्रेन से टकराकर 8 लोगों की मौत हो गई थी.

इस घटना के बाद नवादा निवासी अवधेश कुमार उर्फ जुम्मन मिस्त्री ने मानव रहित रेलवे क्रासिंग पर मानव रहित फाटक बंद होने की सिस्टम का इजाद किया है.

इस खोज के लिए उन्हें मात्र 75000 के खर्च आई है. इसके लिए उन्होंने अपने दोस्त का सहयोग लेकर इस खोज को सफल बनाया है.

मानव रहित रेलवे क्रासिंग से 500 मीटर पूर्व ही ट्रेन आने पर मानव रहित फाटक बंद हो जाएगी. उन्होंने अपने इस इजाद को भारत सरकार के रेलवे मंत्रालय के पास भेजने का निर्णय लिया है.

बुधवार को जुम्मन मिस्त्री ने इस खोज का डेमो पत्रकारों के समक्ष करके दिखाया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*