नवादा: गांव की एक विधवा ने उठाई आवाज़, आज तक नहीं मिला है पेंशन

नवादा(पंकज कुमार सिन्हा): राष्ट्रीय दलित मनवाधिकार अभियान के तत्वाधान में हिसुआ प्रखंड के दोना गांव के आंबेडकर पुस्कालय में स्वरोजगार को लेकर एक सामूहिक बैठक किया गया. जिसकी अध्यक्षता विभास पासवान ने किया. बैठक में दर्जनों दलित महिला/पुरुषों ने अपनी-अपनी समस्याओं को रखा. ग्रामीण सुशीला देवी ने बतायी कि मेरे पति 4 वर्ष पहले ही गुजर गए, लेकिन आज तक विधवा पेंशन नहीं मिला. उन्हें 2 बड़ी बेटी है. एक हार्ड पेशेंट बेटा है.

घर की बड़ी बोझ सुशीला अकेले ही झेल रही है. रो-रोकर कहती है कि मैं पिछले कई वर्षों से मांग कर खाती हूं. जबकि बीपीएल में नाम है. इसके बावजूद अनाज नहीं मिलता है. जिस वजह से भुखमरी के कगार पर हैं. बैठक में उपस्थित अनीता कुमारी कहती हैं कि हमलोग को स्वरोजगार के लिए क्या-क्या योजना संचालित है, किसी को नहीं मालूम.

इस प्रकार आज भी दर्जनों महिलाओं ने स्वरोजगार के लिए उम्मीद लगा के बैठी है. मौके पर उपस्थित राज्य समन्वयक धर्मदेव पासवान ने बैठक में मौजूद सभी दलित महिलाओं और पुरुषों को अभिवादन के बाद कहा कि आज भी हजारों ऐसी योजना सिर्फ दलितों के लिए है, जो आर्थिक रूप से सशक्त करने के लिए काफी है.

लेकिन राज्य सरकार तथा जिला प्रशासन की लापरवाही के कारण आज तक किसी भी योजना की जानकारी ग्रामीण दलित महिला पुरुष को नहीं है. करोड़ों रुपये प्रचार प्रसार हेतु अलग-अलग विभाग में बजट का प्रावधान है. उन्होंने यह भी कहा कि अजाविनि विभाग, मत्स्य विभाग, गव्य विभाग, नावार्ड, कल्याण विभाग जैसी एजेंसी में सैकड़ों योजना संचालित है. जमीनी स्तर पर कुछ नहीं देखने को मिलता है. सतेंद्र रविदास ने कहा कि सबसे बड़ी विडंबना यह है कि जो भी पंचायत प्रतिनिधि चुनकर आये हैं. उन्हें खुद योजनाओं की जानकारी नहीं है. ऐसे में विकास की बात करना ठीक नहीं है.

सभी के जिम्मेवार सम्बंधित अधिकारी हैं. विभास पासवान ने कहा कि आज भी हमारे पंचायत में दलितों को अनाज नहीं मिलता है. जिस वजह से हमारे गांव के कई लोग मांगकर खाते हैं. जो काफी शर्मनाक बात है. उन्होंने यह भी कहा कि 60 घर की टोला में कुल 2 चापाकल है. पानी गर्मी के वजह से सूख गया है.  जिससे बहुत तकलीफ हो रही है. बैठक में सुभाष कुमार, रणजीत पासवान, रणजीत दास, सुगनी देवी, वसंत पासवान, ललिता देवी, लक्ष्मी देवी, रूपा देवी इत्यादि.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*