नवादा: किडनी के लिए किडनैप किया गया था शिक्षक, अब है फरार

nawada

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): फिरौती के लिए अपहरण की बात बिहार में बहुत हुई. अब किडनी के लिए अपहरण किये जाने का मामला प्रकाश में सामने आया है. घटना से जुड़े मामले तिलैया थाना में दर्ज किया गया है. अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भाग निकलने में सफल रहा नवादा का एक युवक.

रजौली थाना क्षेत्र के खजूरी बिगहा का रहने वाला राजीव कुमार मंगलवार को ट्यूशन पढ़ाकर झुमरी तिलैया से अपने किराये के घर लौट रहे थे. उसी दौरान कर्मा के नजदीक 10-12 की संख्या में अपराधियों ने जबरन उसे गाड़ी में बिठा अपहरण कर जंगल में ले गया. विरोध करने पर अपहरणकर्ताओं ने नशे की सुई देकर बेहोश कर दिया. होश आने पर राजीव ने देखा कि पहले से वहां 2 और बॉडी पड़ी हुई थी. अपहरणकर्ता मानव अंग निकालने का कार्य करते थे.

अपहरणकर्ता द्वारा फोन कर डॉक्टर से बात करने की बात को वह सुन लिया. किडनी निकालने की बात सुनकर उसके होश उड़ गए. अपहरणकर्ता डॉक्टर को जल्दी आने के लिए कह रहे थे. अपहरणकर्ता शराब के नशे में थे. उसी का फायदा उठाकर राजीव वहां से भाग निकलने का प्रयाश किया. किसी भी तरह अपने आप को एक गुफा में छुपाकर वह किडनैपर्स के चंगुल से भागने में सफल रहे. उन्होंने बताया कि जगह को वो नहीं पहचान पाए. आबादी वाला क्षेत्र आने पर कोडरमा के ही नासरगंज थानाक्षेत्र में किसी गांव पहुंचकर उन्होंने गांववाले को अपनी आपबीती बताई.

ग्रामीणों के सहयोग से नासरगंज थाने को घटना की पूरी सूचना दी गयी. उसके बाद राजीव का वही प्राथमिक इलाज कराया गया. परिजनों को सूचना मिलते ही सभी मिलने पहुचे और बाद में परिजन उसे नवादा सदर अस्पताल ले आये. राजीव ने केवल दो लोग की ही पहचान कर पाई. बिट्टू और लल्लू जो वही उसके किराये के मकान के नजदीक रहते थे. दोनों उस इलाके के दबंग है. राजीव पेशे से टीचर है और झुमरी तिलैया में प्राइवेट ट्यूशन पढ़ाते है. परिजनों ने झारखंड कोडरमा के नासरगंज थाना में मामले की सूचना दे दी है. स्वस्थ्य होने के बाद पुलिस इनका बयान दर्ज करेगी. रजौली थाने ने कोई भी बयान दर्ज करने से इंकार कर दिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*