742 पाउच देशी व मसालेदार शराब के साथ दो गिरफ्तार, वाहन जब्त

नवादा: जिले के गोविंदपुर रोह व पकरीबरांवा पुलिस ने अलग-अलग स्थानों पर छापेमारी कर भारी मात्रा में अवैध देशी शराब के साथ दो लोगों को गिरफ्तार करने के साथ ही इंडिका कार को जब्त किया है. उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया गया है.


बताया जाता है कि गोविंदपुर थानाधिकारी रवि पासवान ने गुप्त सूचना के तहत इंडिका कार संख्या wb 022/1768 की चेकिंग में 700 पाउच झारखंड निर्मित देशी शराब बरामद हुई. मौका पाकर चालक कार छोड़कर फरार हो गया. इधर, रोह थानाधिकारी ने बाजार में छापेमारी कर 42 पाउच मसालेदार देशी शराब बरामद की. यहां भी कारोबारी पुलिस को चकमा देकर फरार होने में सफल रहा. इसी क्रम में पकरीबरावां थाना क्षेत्र के हुड़राही के धूरा पर एक घर में थानाध्यक्ष संजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने छापेमारी कर चार लीटर महुआ शराब को जब्त किया. साथ ही दो लोगा जितेंद्र चौधरी व विनोद चौधरी को गिरफ्तार किया है.

थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना पर छापेमारी की गयी जिसमे शराब सहित कारोबारी को गिरफ्तार किया गया. दोनों को प्राथमिकी दर्ज कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. पकरीबरावां पुलिस की इस कार्रवाई से शराब के धंधेबाजों में हड़कंप मचा है.एक ओर जहां पुलिस शराब बिक्री पर रोकथाम करने में जुटी है, वहीं दूसरी ओर धमौल ओपी क्षेत्र के पड़रिया, धमौल, श्यामदेव, जसत, बेलखुंडा सहित विभिन्न गांवों में शराब का धंधा चरम पर है. जिसको जिस समय शराब की जरूरत हो, उन्हें तुरंत शराब मिल जाती है. शराब कारोबारी बेखौफ होकर शराब बेच रहे हैं. स्थानीय लोगों की माने तो प्रशासन की मिलीभगत से ही शराब बेचा जा रहा है.

शराब बेचवाने के एवज में प्रति माह एक अच्छी खासी रकम कारोबारी द्वारा दरोगा को दी जाती है. लोगों की माने तो शराब बेचने की सूचना प्रशासन को देने पर सूचना देने वालों का नाम कारोबारी को बता दिया जाता है, ऐसे में सूचना देने वाले कारोबारी के निशाने पर होते हैं. यही कारण है कि लोग पुलिस को सूचना न देकर तमाशा देखने में ही अपनी भलाई समझते हैं. लोगों ने जिला प्रशासन से शराब कारोबारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*