जापान की मियूकी इशिगामी आई हैं नवादा और देखा कुछ ऐसा कि फिर आने का वादा कर गईं

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): बिहार का महापर्व छठ एक ऐसा त्योहार है जिसे मनाने के लिए लोग देश के कोने कोने से पहुंचते हैं. छठ पर्व की महिमा ऐसी है कि लोग चाहे देश और दुनिया के किसी भी कोने में बसे हुए हों, इस मौके पर अपनी उपस्थिति जरुर दर्ज कराते हैं.

इस पर्व को मनाने और इसे देखने के लिए नवादा में एक विदेशी मेहमान पहुंचीं, जिसका नाम मियूकी इशिगामी है. वह जापान से यहां आई हैं. मियूकी भारत पहले भी आती रही हैं.

जब इन्हें छठ पर्व के बारे में जानकारी हुई तो इसे देखने के लिए वह जापान से अकबरपुर के पिरौटा छठ घाट पर पहुंचीं. इनके टूरिस्ट गाइड रंजय कुमार ने बताया वह केवल छठ पर्व में भाग लेने और अनुष्ठानों को देखने के लिए नवादा आई हैं. इस त्यौहार को देखकर वह काफी खुश दिखीं.

उन्होंने कहा कि छठ पर्व अनुभव को वो अपने परिवार और मित्रों के साथ साझा करेंगी और अगले साल इस पर्व को मनाने के लिए वह अपने घर वालों और मित्रों के साथ भारत आएंगी. पेशे से ज्वेलरी डिज़ाइनर मियूकी इशिगामा जापान की टोक्यो की रहने वाली हैं और इस पर्व की पवित्रता और साफ—सफाई से वह काफी प्रभावित हुईं.

बोधगया में फल्गू नदी में छठ देखने पहुंचे सैलानी:
यह तस्वीर— फेसबुक पोस्ट से 

आपको बता दें कि न केवल नवादा बल्कि बोधगया में आए जापानी बौद्ध तीर्थयात्रियों एवं सैलानियों ने भी फल्गू के तट पर छठ अनुष्ठान का श्रद्धापूर्वक देखा और अभिभूत हुए. बोधगया में हर साल न केवल जापान बल्कि दूसरे देशों के सैलानी भी जब छठ के समय आते हैं तो छठ के अनुष्ठानों में शरीक होते हैं और समय पर फल्गू एवं अन्य छठ घाटों पर जा पहुंचते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*