भाजपा नेता की शव यात्रा में शामिल हुए हज़ारों लोग

नवादा (पंकज कुमार सिन्हा): ज़िले के नरहट निवासी और भाजपा नेता मोहन सिंह के निधन के उपरांत सोमवार को आयोजित शव यात्रा में हज़ारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. नालंदा कॉलेज से छात्र राजनीति करने वाले मोहन सिंह सीपीआई से सफल राजनीति में आये थे. पिछले 10 साल से भाजपा के साथ थे. हिसुआ विधायक अनिल सिंह के करीबी माने जाते थे. नरहट प्रखंड में नेताजी के नाम से प्रसिद्ध मोहन सिंह के निधन की खबर सुनकर लोगों में शोक की लहर दौड़ पड़ी. 87 वर्षीय मोहन सिंह कई बार प्रखंड 20 सूत्री अध्यक्ष भी रहे थे.

मोहन सिंह के पुत्र ने बताया कि पिछले 15 दिनों पूर्व पटना से लौटने के क्रम में गिरियक के पास उनका ब्रेन हेमरेज हो गया था. पटना के ही एक निजी अस्पताल में इलाज किया जा रहा था. काफी दिनों तक कोमा में रहने के बाद सोमवार की सुबह उन्होंने अंतिम सांस ली. पटना से जैसे ही मोहन सिंह का शव नरहट गांव पहुंचा, उनकी एक झलक देखने वालों की भीड़ उमड़ पड़ी.

ककोलत विकास परिषद के अध्यक्ष मसिउद्दीन ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि नरहट प्रखंड ने एक जुझारू नेता को खो दिया है. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी मोहन सिंह के निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए परिवार को धैर्य बनाये रखने की बात कही है. मोहन बाबू के निधन की खबर क्षेत्र में जंगल के आग की तरह फैल गई. आसपास से लोगों के पहुंचने का सिलसिला काफी समय तक लगा रहा. घर से निकले शव यात्रा में हज़ारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. शमशान घाट तक लोगों का हुजूम एक झलक पाने को लगा रहा. नरहट में राजनीति के पुरोधा आदित्य सिंह और मोहन सिंह को ही माना जाता था. नरहट ने दोनों नेताओं को खो दिया है. नरहट के विकास में मोहन बाबू का भी अहम भूमिका मानी जाती है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*