आंदोलनरत शिक्षकों ने चेहरे पर फेंका मोबिल

नवादा: जिले में इंटर परीक्षा की काॅपी व प्रायोगिक परीक्षा के मूल्यांकन कार्य का बहिष्कार कर रहे वित्त रहित व नव नियोजित शिक्षक विरोध जताने के घटिया स्तर तक उतर आए हैं. गुरुवार को आंदोलन वित्त रहित शिक्षकों ने मूल्यांकन कर रहे शिक्षकों के चेहरे पर मोबिल आयल फेंक कर अपना विरोध जताया. शिक्षकों की इस कार्रवाई से हड़कंप की स्थिति है. जबकि मूल्यांकन कार्य बाधित होने की संभावना उत्पन्न होने लगी है.

बताया जाता है कि आंदोलनरत वित्त रहित शिक्षकों के कारण मूल्यांकन कार्य पहले ही काफी पिछड़ चुका है. काफी मुश्किलों के बाद गुरुवार से दो मूल्यांकन केन्द्रों पर शांतिपूर्ण तरीके से मूल्यांकन कार्य आरंभ कराया गया था. बहिष्कार कर रहे वित्त रहित शिक्षकों से निपटने के लिए मूल्यांकन केन्द्र के बाहर दंडाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस बलों की तैनाती की गयी थी.

इस क्रम में बहिष्कार कर रहे वित्त रहित शिक्षकों की बैठकों में अगली रणनीति बनाने का काम जारी रहा. बैठक में आंदोलनरत शिक्षकों ने मूल्यांकन कार्य कर रहे शिक्षकों को सबक सिखाने का संकल्प लिया. फिर वित्त रहित शिक्षकों ने वह किया जिससे शिक्षकों की मर्यादा तार—तार हो गई.

आंदोलनरत शिक्षकों ने गांधी इंटर विद्यालय से मूल्यांकन कार्य समाप्त कर निकल रहे शिक्षक और शिक्षिकाओं पर काला तेल फेंक दिया. जिससे अफ़रा—तफ़री मच गयी. जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती सभी आंदोलनरत शिक्षक फरार होने में सफल रहे. घटना की सूचना डीएम को दी गयी है. घटना के बाद से मूल्यांकन कार्य कर रहे शिक्षक अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*