पुलिस खोजकर थक गई पर नहीं मिला मनोज, खुद ही किया सरेंडर

पटना : हत्या के आरोपी को पुलिस पिछले चार महीनों से अधिक समय से खोज रही थी. थक कर अदालत में कुर्की जब्ती की गुहार लगाई गई. लेकिन आरोपी ने खुद ही अदालत के सामने सरेंडर कर पटना पुलिस को चौंका दिया.

फुलवारीशरीफ  के ट्रांसपोर्टर उमाशंकर प्रसाद हत्या कांड में नामजद अभियुक्त मनोज कुमार का अग्रिम जमानत हाईकोर्ट से रिजेक्ट होने के बाद बुधवार को उसने खुद ही निचली अदालत में आत्मसमर्पण कर पटना पुलिस को ठेंगा दिखा दिया है. इससे पहले हत्या के अनुसंधानकर्ता ने अदालत में नामजद मनोज के कुर्की जब्ती के लिए आवेदन दिया था.

हाई कोर्ट में बेल रिजेक्शन के बाद पुलिस लगातार मनोज कुमार की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही थी. बावजूद इसके वह पुलिस की गिरफ्त से बाहर था. बुधवार को अदालत में खुद ही हाजिर होकर उसने पटना पुलिस को भी चौंका दिया.

4 जुलाई को हुई थी हत्या

ट्रांसपोर्टर उमाशंकर सिंह की हत्या इसी साल चार जुलाई को हुई थी. वो फुलवारी शरीफ थाना अंतर्गत उफरपुरा गांव के रहने वाले थे. फुलवारी शरीफ स्थित एफसीआई गोदाम के पास अपने मित्रों का इंतजार कर रहे थे. तभी अज्ञात हमलावरों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया था. प्रसाद को आनान-फानन में पारस अस्पताल भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

हत्या के बाद पुलिस ने जांच शुरु की. मनोज कुमार को नामजद अभियुक्त बनाया गया. लेकिन पिछले चार महीनों से भी अधिक समय से मनोज पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ सका है. आज उसने खुद को अदालत में सरेंडर कर पटना पुलिस के दावे बखिया उधेड़ दी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*