कार्तिक पूर्णिमा : एक्शन में है NDRF, पटना में अब तक बचा ली है 4 जिंदगियां

पटना(अमित जयसवाल) : कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान करने वालों की भीड़ जिस तरह से बढ़ रही है. हादसे भी उसी तरह पांव पसारे हुए है. बेगूसराय के सिमरिया में कार्तिक पूर्णिमा पर स्नान को लेकर ही भगदड़ मची. वैसे अन्य जगहों पर पर किसी बड़ी घटना की कोई खबर नहीं है. लेकिन राजधानी पटना की बात करें तो गंगा घाट पर हादसे होते-होते बच गए. मौके पर मुस्तैदी से डटे एनडीआरएफ किसी भी हादसे से निपटने को तैयार हैं. सुबह में एक की जान बचाने के बाद आज लगभग बारह बजे,फिर 2 लड़के डूबने लगे. लेकिन मौके पर मौजुफ़ एनडीआरएफ की टीम ने उन्हें बचा लिया.

इस घटना में 2 लड़कों को 9 बटालियन एनडीआरएफ के बचाव दल द्वारा सफलतापूर्वक बचाया गया. जानकारी के अनुसार  वे गंगा नदी में पटना के कलेक्ट्रेट घाट में डूबने लगे थे. करण कुमार (1 9 वर्ष) कृष्ण पूर्णिमा के अवसर पर पटना में कलेक्टेट घाट पर स्नान करते हुए गहरे पानी में तैराकी चलाते थे. कुछ ही क्षणों के बाद, वह नदी में डूबने लगा. उनके दोस्त राम कुमार (1 9) ने इसे देखा और अपने दोस्त को बचाने के लिए नदी में कूद कर दिया लेकिन दुर्भाग्य से वह भी डूबने लगे.     

घटना की सूचना, एसआई अविनाश कुमार जो कलेक्ट्रेट घाट पर एक नाव में थे, ने तुरंत स्थिति का समाधान किया और बचाव अभियान चलाया. उनकी दिशा में, 9 बटालियन एनडीआरएफ के प्रमुख कांस्टेबल विजय कुमार झा, हेड कांस्टेबल जी.सेलव कुमार और कांस्टेबल भूपेंदर गिरि ने सफलतापूर्वक बाढ़ बचाव तंत्र का इस्तेमाल करके दोनों को बचाया. बाद में, दोनों की पहचान की गई- 1. करण कुमार (19 वर्ष), एस ओमेश पर्साद, आर / ओ – चीन कोठी, हरिजन कॉलोनी, पटना. 2. राम कुमार (1 9 वर्ष),  कपिल देव पंडित, आर ओ मंडरी, बाबू नगर, पटना. इन दोनों के पहले कलेक्ट्रिएट घाट पर रौशन कुमार और बांस घाट पर ओम प्रकाश रजक को भी NDRF की टीम द्वारा बचाया गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*