दर्शकों के बदलने से भोजपुरी सिनेमा में भी आ गया बदलाव : कुणाल

पटना : भोजपुरी सिनेमा के महानायक माने जाने वाले चर्चित और वरिष्ठ अभिनेता कुणाल सिंह यादव रविवार की शाम फेसबुक लाइव थे लाइव सिटीज के न्यूज जंक्शन से. सिनेस्टार कुणाल सिंह ने लाइव के दौरान भोजपुरी सिनेमा के पुराने दौर से लेकर नए दौर तक के सफर, बदलता पटना और राजनीति से जुड़े सभी मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखी.

पढ़िए अभिनेता कुणाल सिंह ने लाइव में और क्या कहा…

नरगिस दत्त के जमाने से फिल्मों में है भोजपुरी

अभिनेता कुणाल सिंह ने कहा कि भोजपुरी सिनेमा का इतिहास करीब 56 सालों का है. फिल्म जगत में भोजपुरी के उपस्थिति के बारें में कहते हैं कि शायद किसी को पता नहीं हो, भोजपुरी पहली बार इंडियन सिनेमा में तब आई थी जब नरगिस दत की एस फिल्म में भोजपुरी ठुमरी को फिल्माया गया था. उसके बाद से लेकर अब तक भी बॉलिवुड में भोजपुरी  को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता.

दर्शक वर्ग बदला है, इसीलिए भोजपुरी सिनेमा का क्लास भी बदला है

पुरानी भोजपुरी फिल्मों मसलन गंगा मइया तोहे पियरी चढ़इबो, गंगा किनारे मोरा गांव, धरती मइया  आदि जैसी फिल्में अब भोजपुरी सिनेमा में नहीं देखने को मिल रहीं. इस सवाल के जवाब में कुणाल सिंह कहते हैं कि ये बात सही है कि वैसी भोजपुरी सिनेमा अब नहीं देखने को मिल रही है. लेकिस साथ में कहते हैं कि उसकी वाजिब वजह भी है. और वजह ये है कि हमारा दर्शक वर्ग भी बदला है. अब पहले वाला दर्शक वर्ग नहीं रहा.

kunal1

अभिनेता कुणाल सिंह आगे कहते हैं कि पहले भोजपुरी सिनेमा देखने के लिए अच्छे और संभ्रांत घरों की बेटी बहुएं भी आती थीं. सिनेमा हॉल में उनकी उपस्थिति पर्याप्त रहती थी. लेकिन वो दर्शक वर्ग अब सिनेमा में नहीं देखने को मिल रहा है. कुछ गलती उनकी भी है जिन्होंने भोजपुरी सिनेमा को इस जैसा बनाया. अब तो मजबूरी हो गई है. हमारा दर्शक वर्ग अब उसी तरह का हो गया है. निर्माता तो पैसा वहीं न लगाएंगे जहां उन्हें पैसा मिलेगा.

पटना बदला है, यहां के समाज का मिजाज बदला है

अपने दौर के पटना और आज के पटना का जिक्र करते हुए अभिनेता कुणाल सिंह कहते हैं पहले के पटना में एक मुहल्ला पूरा परिवार होता था. बिना मुहल्ले के परिवार की कल्पना नहीं की जा सकती है. लेकिन समय के साथ सबकुछ बदल गया है. कहते हैं कि फ्लाइओवरों का जाल देखकर अच्छा लगता है. सरकार प्रोग्रेसिव है. काम हो रहा है. वैसे भी हम बिहारियों के संस्कार अभी भी जिंदा हैं. इसीलिए हम आपस में एक दूसरे की इज्जत करना जानते हैं.

बेटे को लेकर बना रहे हैं फिल्म

कुणाल सिंह अपने बेटे आकाश को लेकर एक फिल्म बना रहे हैं. कहते हैं कि बेटे ने बॉलिवुड में पहले ही ब्लडी इश्क फिल्म के साथ दस्तक दे दी थी. आकाश की अभी दो भोजपुरी  फिल्में आने वाली हैं. जिसमें एक को मैने ही प्रोड्यूस किया है.

देखें वीडियो पार्ट 1 :

देखें वीडियो पार्ट 2 :

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*