बेलछी बैंक लूट : दुःसाहसी इतना कि एएसपी ऑफिस के पास ही बना रखा था ठिकाना

bank robbery

पटना : बाढ़ के बेलछी पीएनबी बैंक लूट और ट्रिपल मर्डर मामले का अभियुक्त ललन सिंह और उसका परिवार इतना दुःसाहसी था कि इलाके में लगातार कई जघन्य वारदातों को अंजाम देने के बाद भी उसने बाढ़ के सहायक पुलिस अधीक्षक कार्यालय के पास ही अपना आशियाना बना रखा था. बाढ़ कोर्ट एरिया में एएसपी ऑफिस के पास मैनेजर साहब के मकान में बतौर किराएदार रहने वाले ललन सिंह ने कुछ पुलिसकर्मियों से भी दोस्ती कर रखा था. 

बीते 6 सालों से बाढ़ कोर्ट एरिया के पास सीढ़ी घाट मोहल्ले में ललन सिंह बतौर किराएदार रहता था. ललन सिंह ने अपना परिचय ट्रांसपोर्टर के तौर पर दे रखा था. स्थानीय लोग भी बताते हैं कि वहां पर यदाकदा दो या तीन पिकअप वैन आता रहता था. स्थानीय लोगों को उसने ट्रक कारोबार की बात भी बताई थी लेकिन स्थानीय लोगों ने कभी ट्रक को वहां देखा नहीं था. हैरानी तो इस बात की है कि जिस मकान में ललन सिंह रहता था उसी मकान में कुछ पुलिसकर्मी भी रहते थे.  

हालांकि अभी तक किसी पुलिसकर्मी की उससे साठगांठ या संबंध होने की बात सामने नहीं आई है लेकिन इतना तो तय है कि ललन सिंह एएसपी ऑफिस के पास रहकर निश्चित तौर पर पुलिस की गतिविधियों पर नजर रखता था. खास कर यह कि जिस मकान में ललन रहा करता था वहां पर कुछ पुलिसकर्मी भी रहते थे तो निश्चित तौर पर उसका संपर्क पुलिसवालों से रहा होगा. स्थानीय लोगों ने बताया कि ललन अमूनन अकेले रहा करता था और उसके दो भाई यदा-कदा वहाँ आते रहते थे.

माना जा रहा है कि आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने या फिर कहीं और घटनाओं को अंजाम देने के बाद सुरक्षित ठिकाना समझ कर छिपने के लिए उसके भाई वहाँ आते रहते थे. उसके भाई कुछ दिन रहने के बाद वापस फिर चले जाते थे. एएसपी ऑफिस और बाढ़ जेल उपकारा के बीच रहने वाले ललन और उसके भाइयों का अब नया ठिकाना पड़ोस का ही बाढ़ जेल हो गया है. स्थानीय लोगों को उसकी हरकतों पर यकीन नहीं हो पा रहा था. लेकिन बुधवार तड़के जैसे ही एसएसपी के नेतृत्व में दर्जनों अधिकारी और पुलिस जवानों ने मोहल्ले में अपनी धमक दिखाई तो लोग हैरत में पड़ गए.

एकबारगी लोगों को यकीन ही नहीं हुआ कि जो ललन पिकअप वैन चलाने का काम करता था वह इतना शातिर निकलेगा. बाढ़ कोर्ट एरिया में पूरे दिन ललन और उसके दो सगे भाइयों की ही चर्चा रही. बेलछी और सोहसराय बैंक लूट की घटनाओं के अलावा सड़क डकैती की कई घटनाओं को भी ललन अंजाम दे चुका था. मरांची थाना के दारोगा और दो अन्य पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद ललन बाढ़ के इलाके में स्थाई रूप से रह रहा था जहां प्रशासन से जुड़े बाढ़ अनुमंडल के सभी अधिकारियों का दफ्तर और आवास है. बैंक लूट की घटना के बाद भी उसी मकान में स्थाई तौर पर रहना ललन के शातिर और दुःसाहसी होने का भी एहसास कराता है.

यह भी पढ़ें- 3 भाइयों ने मिलकर किये थे 3 मर्डर और लूट लिया था 60 लाख,बैंक मेनेजर भी रडार पर

मनु महाराज ने बैंक लूट के 43 लाख रुपये जब्त किए, जारी है रेड!

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*