बेगूसराय में सहेली के घर से लौट रही थी, आंख खुली तो पटना जंक्शन मिला

पटना : गुरुवार को कोतवाली पुलिस को पटना जंक्शन से एक बच्ची संदिग्ध हालत में मिली. सहमी हुई सी रजनी (बदला हुआ नाम) की आंखों में आंसू थे. बस सिसकती जा रही थी. कहती जा रही थी.. ‘मुझे मेरे घर पहुंचा दो.’

पुलिस ने रजनी से पूछताछ की तो पता चला कि वो बेगूसराय में 10वीं की छात्रा है. पड़ोस की अपनी सहेली से मिलने घर गई थी. उसको भी नहीं मालूम कि कैसे पटना जंक्शन पहुंच गई. रजनी के घरवालों ने बेगूसराय में पुलिस के पास उसके लापता होने की शिकायत की थी. कोतवाली पुलिस ने तत्काल ही इसकी सूचना बेगूसराय पुलिस और प्रिया के परिजनों को दे दी.

कब आंख लगी पता नहीं

बकौल रजनी वो पड़ोस की अपनी सहेली से मिलने उसके घर गई थी. सहेली घर में नहीं थी. इसीलिए लौटने लगी. फिर सीढ़ियों पर कुछ अंकल लोग मिले. उसके बाद क्या हुआ उसे सही से याद नहीं आ रहा. जब आंख खुली तो खुद को पटना जंक्शन पर बेगूसराय से आने वाली ट्रेन में पाया. घबरा कर ट्रेन से नीचे उतरी, पता चला कि ये पटना जंक्शन है. रात भर प्लेटफॉर्म पर ही रही. सुबह महावीर मंदिर चली गई. वहीं से पुलिस को रजनी के होने की सूचना मिली.

पुलिस ने बुलाया है परिजनों को

पुलिस ने रजनी के परिजनों को इसकी सूचना दे दी है. परिजनों को पटना बुलाया गया है. रजनी के पास फिलहाल कुछ स्थानीय अभिभावक भी पहुंच गए हैं. पुलिस भी रजनी का खासा खयाल रख रही है. थाना प्रभारी रामाशंकर सिंह ने कहा कि जब तक परिजनों से मामले की तफ्तीश से पूछताछ नहीं होगी, कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पाएगी. क्योंकि, बच्ची अभी खुद सहमी हुई है. इसीलिए उस पर जोर नहीं डाला जा रहा है.

यह भी पढ़ें :

AIIMS से अब घर लौटेगा रोहित, पैसे इतने आये कि Payment Gateway ही क्रैश हो गया

‘आपात काल’ में NMCH की व्यवस्था, किससे कहें दास्तां

गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल ने दिया शौर्य पुरस्कार 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*