भोजपुरी को आगे बढ़ाने के लिए कल्पना लायीं नया एल्बम,मंत्री ने की जमकर तारीफ़

bhojpuri-singer-kalpna-launches-new-album

पटना : जानीमानी भोजपुरी सिंगर कल्पना महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष के मौके पर एक नया भोजपुरी एल्बम लेकर आयी हैं. उनके नए एल्बम का नाम भी ‘चंपारण सत्याग्रह’ ही रखा गया है. आज बुधवार को बिहार के कला, संस्‍कृति मंत्री शिवचंद्र राम ने इस एल्बम का लोकार्पण किया.

राजधानी के होटल कौटिल्‍या में हुए इस लोकार्पण कार्यक्रम में मंत्री शिवचंद्र राम ने कल्पना की जमकर तारीफ़ भी की. उन्होंने कहा कि कल्‍पना ने अपनी आवाज से बिहार व भोजपुरी संस्‍कृति को दुनियाभर के जनमानस के बीच पहुंचाया. कल्‍पना ने भोजपुरी के शेक्‍सपीयर भिखारी ठाकुर को समर्पित अलबम ‘द लेजेंसी ऑफ भिखारी ठाकुर’ और ‘द एंथ्रोलॉजी ऑफ बिरहा’ के जरिए अतंर्राष्‍ट्रीय स्‍तर तक पहुंचाया.

वहीँ इस मौके पर सिंगर कल्‍पना पटोवारी ने कहा कि भोजपुरी चंपारण सत्‍याग्रह की मूल आत्‍मा थी. गांधी बाबा ने भोजपुरी को अपना हथियार बनाया था. इसलिए उनके सहयोगी सत्‍याग्रह की सफलता के लिए भोजपुरी में लोकगीतों की रचना करते और फिर लोगों के बीच गायन करते थे. कल्‍पना ने भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल नहीं करने पर नाराजगी जाहिर करते हुए इसे दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया.

कल्पना ने अपने एल्बम को इसी प्रयास का परिणाम बताया. उन्होंने कहा कि भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कराने के लिए अपने म्‍यूजिकल प्रयास के तीसरे चरण में उन्‍होंने ‘चंपारण सत्‍याग्रह’ की परिकल्‍पना की, जो अब सबके सामने है. उन्‍होंने कहा कि इस प्रयास का मकसद है कि आज की पीढी उनके योगदान को कृतज्ञतापूर्वक याद कर सके. खास कर जिस तरीके से गांधी बाबा ने चंपारण के लोगों को एकजुट किया था.

महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष के मौके पर इस एल्बम का लोकार्पण करते हुए मंत्री शिवचंद्र राम ने कहा कि कल्‍पना का गांधी जी को याद करते हुए आवाज व विचार के जरिए तथ्‍य संग्रह का कार्य सराहनीय है. उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा गांधी के चंपारण सत्‍याग्रह के 100 साल के मौके पर जहां राज्‍य सरकार के कई विभाग अपने स्‍तर से काम कर रही है, वहीं कला, संस्‍कृति एवं युवा विभाग की ओर से भी कई आयोजन किए जाएंगे. विभाग कार्यशाला, विरासत यात्रा और फिल्‍म प्रदर्शन के जरिए गांधी जी की चंपारण सत्‍याग्रह को लोगों के बीच प्रस्‍तुत करेगी.

यह भी पढ़ें :

कबाब के शौक़ीनों के लिए खास, ये हैं पटना के बेहतरीन कबाब पॉइंट्स..

अनंत बरार को बेउर जेल से ले गई SIT, 48 घंटे तक होगी पूछताछ

फिर बोले रघुवंश : यूपी चुनाव के तुरंत बाद ही नीतीश को क्यों आई भोज की याद !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*