पटना : एड्स दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन कर छात्रों को किया गया जागरूक

पटना : इम्पैक्ट कॉलेज में आज शुक्रवार को विश्व एड्स दिवस के मौके पर जनजागरूकता को लेकर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस अवसर पर एड्स से बचाव व एड्स रोगियों के प्रति भेदभाव एवं उनके प्रति लोगों की मानसिकता को नाटक का मंचन कर बखूबी दर्शाया गया. एड्स रोगियों के प्रति समाज का नजरिया कैसा होना चाहिए इसके बारे में कॉलेज के निदेशक मनीष कुमार ने बहुमूल्य जानकारी दी.

कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज की छात्रा काजल कुमारी ने रघुपति राघव राजा राम गाने से की. वहीं छात्रों ने एड्स जागरूकता को लेकर नाटक का मंचन किया. जिसमें अभिषेक राज, खुश्बू कुमारी, सुदर्शना घोष, चित्रांस, अविनाश कुमार, अमित कुमार, सौरभ जयसवाल, शिवम कुमार, शुभम कुमार ने अपने अभिनय से नाटक को जीवंत बना दिया.

इस कार्यक्रम में शामिल वक्ताओं ने कहा कि हर साल विश्व एड्स दिवस मनाने का उद्देश्य, नीतियों और कार्यक्रमों को और प्रभावी बनाने, स्वास्थ्य प्रणाली को मजबूत करने के साथ ही एचआईवी/एड्स के प्रति स्वास्थ्य क्षेत्रों की क्षमता को बढ़ाना और जनजागरुकता लाना है. इस मौके पर कॉलेज के निदेशक मनीष कुमार ने कहा कि विश्व एड्स दिवस समाज और सामाजिक संगठनों के बीच जागरुकता बढ़ाने, इलाज और रोकथाम के उपायों पर चर्चा करने के लिए महत्वपूर्ण अवसर प्रदान करता है.

वहीं कॉलेज के प्राचार्य सचिन भाष्कर ने एड्स दिवस के इतिहास पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विश्व एड्स दिवस की पहली बार कल्पना 1987 में अगस्त के महीने में थॉमस नेट्टर और जेम्स डब्ल्यू बन्न द्वारा की गई थी. थॉमस नेट्टर और जेम्स डब्ल्यू बन्न दोनों डब्ल्यू. एच. ओ. जिनेवा, स्विट्जरलैंड के एड्स ग्लोबल कार्यक्रम के लिए सार्वजनिक सूचना अधिकारी थे. उन्होंने एड्स दिवस पर एड्स ग्लोबल कार्यक्रम के निदेशक डॉ. जॉननाथन मन्न से अपना विचार साझा किया.  जिन्होंने इस विचार को स्वीकृति दे दी और वर्ष 1988 में 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस के रुप में मनाना शुरु कर दिया.

विश्व एड्स दिवस को अलग अलग साल में अलग अलग उद्देश्यों के साथ मनाया जाता रहा है. साल 1988 में एड्स दिवस अभियान का विषय संचार था तो 1989 में युवाओं पर फोकस किया गया. 1990 में महिलाएं और एड्स विषय पर फोकस किया गया. इस अवसर पर इम्पैक्ट कॉलेज के सैकड़ों छात्रों, अभिभावकों एवं प्राचार्य सचिन भाष्कर के साथ साथ विभिन्य संकाय के शिक्षकों जिनमें डॉ. नवनीत कुमार, डॉ. एस. चक्रवर्ती, अर्जुन प्रसाद, धीरज कुमार, राजीव कुमार, डॉ. राजेश रंजन, मिस प्रिया, जनसंचार विभाग से तरुण कुमार ठाकुर, ऐकडमिक कॉडिनेटर प्रेम कुमार, कुणाल भारद्वाज, संतोष कुमार सुमन, रिचा कुमारी, प्रभात कुमार, सुनीता सिन्हा, रितिका कुमारी सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*