ग्रामीण इलाकों में खिलाड़ियों के प्रोत्साहन के लिये बड़े प्रयास की जरूरत : रामकृपाल

बिहटा (मृत्युंजय कुमार) : जीजे कॉलेज रामबाग के खेल मैदान पर आयोजित 22वें शहीद स्मृति क्रिकेट टूर्नामेंट का केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने विधिवत उद्घाटन किया. सर्वप्रथम शहीदों के चित्र पर पुष्पांजलि कर उपस्थित लोगों ने दो मिनट का मौन रखा. भाजपा पटना ग्रामीण अध्यक्ष आशुतोष कुमार ,अजित कुमार सिंह, अजित झा, बीएन सिंह, सुधीर शर्मा, धर्मेंद्र कुमार, माधो कुमार, कौशल किशोर, लव कुमार, शैलेश सिंह, राज कुमार शर्मा सहित अन्य लोगों ने शहीदों की पुष्पांजलि की.

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने खिलाडिय़ों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि हार-जीत एक ही सिक्के के दो पहलू हैं हार से निराश नहीं होकर सतत आगे बढऩे की प्रक्रिया को अपनाने पर निश्चित रूप से लक्ष्य की प्राप्ति होती है. उन्होंने ने कहा कि खेल से शारीरिक, मानसिक एवं बौद्धिक विकास होने के साथ ही एकजुटता व संगठन की शक्ति की महता का पता चलता है.

एक लक्ष्य-एक ध्येय लेकर चलने पर ही सफलता की प्राप्ति होती है. बताते चले कि आज के 22 साल पूर्व 19 फरवरी को बिहटा के एक व्यवसायी की हत्या हो जाने के बाद सभी व्यवसायी शांतिपूर्ण बैठकर हत्या का विरोध कर रहे थे. उसी क्रम में तथाकथित दानापुर एसडीओ ने दमनात्मक रवैया अपनाते हुए व्यवसायियों पर गोली चलवा दिया था.

बिहटा में बड़े आॅपरेशन का मिला बड़ा रिजल्ट, अपने गुर्गों के साथ पकड़ा गया चंदन सिंह

जिसमें क्रिकेट प्रेमी सह व्यवसायी ललन सिंह, रामचंद्र सिंह और बुटन पासवान पुलिस की गोली का शिकार होकर शहीद हो गए थे. जिसके बाद प्रत्येक वर्ष उक्त तिथि को सुबह से अपराह्न तक सभी व्यवसायी अपना-अपना व्यवसाय को बंद रखते है और उनकी याद में क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*