अधिवक्ताओं ने 48 घंटे का दिया मोहलत, अपराधियों की गिरफ़्तारी नहीं होने पर करेंगे आंदोलन

पटना सिटी (जुलकर नैन) : तीन दिन पूर्व अधिवक्ता सत्येन्द्र कुमार की हत्या के मामले मेँ आक्रोशित अधिवक्ताओं ने पुलिस को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है और कहा है अगर 48 घंटे मेँ इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है. सोमवार को पटना सिटी व्यवहार न्यायलय पटना सिटी अधिवक्ता संघ के बैनर तले वकीलों न्यायिक कार्य से अलग रह कर के घटना के प्रति कड़ा विरोध जताया और मृतक अधिवक्ता सत्येन्द्र कुमार को अर्पित किया.

इस मामले को लेकर पटना सिटी अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष नवीन कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया. महासचिव संजय कुमार सिन्हा ने बताया की पुलिस को 48 घंटे का मोहलत दिया गया है. अगर दो दिन के अन्दर मामले का खुलासा नहीं होता हैं तो पटना सिटी अधिवक्ता संघ के द्वारा आन्दोलन किया जायेगा. और पटना सिटी अधिवक्ता संघ की ओर से मृत अधिवक्ता सत्येन्द्र कुमार के परिवार वालोँ को सहायता राशि दी जायेगी. संघ की ओर से पीड़ित परिवार को सुरक्षा प्रदान करने की भी मांग की गई है.

वकील की संदिग्ध मौत, परिजनों ने हत्या का मामला दर्ज़ कराया, जांच में जुटी पुलिस

आपको बता दें कि मेहंदीगंज थाना क्षेत्र के मथनी तल गुमटी के समीप एक वकील की मौत हो गई थी. मौके पर पहुँची पुलिस ने शव को अपने कब्ज़े मेँ लेकर पोस्टमॉर्टम के लिये भेजा दिया था. मेहंदीगंज थाना की पुलिस का कहना था कि मृतक काठ का पुल मथनीतल के पास का रहने वाला हैं जिसकी पहचान अधिवक्ता सतेन्द्र कुमार के रूप मेँ हुई थी. जिसकी उम्र 42 वर्ष बताई जा रही थी.

मामला हो सकता हैं ज़मीनी विवाद का
Livecities ने पहले भी ये संदेह जताया था की ये मामला जमीनी विवाद का हो सकता हैं. मृतक अधिवक्ता सत्येंद्र के बेटा शिवम ने Livecities के संवादाता को बताया था की पिछले संडे को चाचा से ज़मीन को लेकर विवाद हुआ था, जो गौरीचक के बेलदारी टोला मेँ रहते हैं मृतक सतेन्द्र मूलरूप से गौरीचक का निवासी हैं. और यहाँ मेहँदीगंज मेँ कुछ सालोँ से मकान बना कर के रह रहेँ हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*