फुलवारी शरीफ : छात्राओं ने चित्रकारी कर प्रदूषण रोकने का दिया संदेश

फुलवारीशरीफ (अजीत कुमार): बृहस्पतिवार को स्थानीय राजकीय अमला टोला कन्या मध्य विद्यालय में सातवीं तथा वर्ग 8 के छात्राओं के लिए वर्तमान में प्रदूषण की बढ़ती समस्या पर मेरे सच्चे सुपर हीरो शीर्षक पर चित्रकारी प्रतियोगिता सह संवाद कार्यक्रम का अयोजन किया गया. इस प्रतियोगिता का आयोजन कुमुदिनी ऐजुकेशनल कम चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया गया.

आयोजन का मुख्य उद्देश्य प्रदूषण के कारण अस्त-व्यस्त होती जिंदगी को फिर से सही दिशा में लाने के लिए जागरूक करना था. साथ ही साथ संवाद के माध्यम से बच्चों को सस्टेनेबल डेवलपमेंट क्या होता है, इसके क्या फायदे है इससे भी छात्रों को अवगत करवाया गया. इस प्रतियोगिता में विद्यालय के 150 से अधिक छात्राएं सम्मिलित हुईं.

सभी प्रतियोगी छात्राओं ने एक से बढ़कर एक चित्रकारी कागज पर उकेरा. किसी ने मोटर गाड़ियों से निकलते हुए धुएं से प्रदूषित होती जा रही हवा के चिंता को दर्शाया तो किसी ने निरंतर शहरो में कॉन्क्रीटो की ऊंची-ऊंची इमारतों के कारण सुन्दर हरे भरे पेड़ो के बलिदान को दर्शाया.

ट्रस्ट की चेयरपर्सन उषा देवी ने कहा कि जीवन खुशहाल समृद्ध और आनंदमय हो तभी हम जी सकते हैं. जब हम प्रकृति के नियम को माने और उसका पालन करें. और अपने निजी स्वार्थ के कारण प्रकृति को नुकसान पहुंचना बंद करें.

मुख्य अतिथि पाठशाला के निदेशक सी शेखर ने कहा कि अगर आज हम पर्यावरण के प्रति जागरूक नहीं हुए तो वो दिन दूर नही जब हम बहुत बड़ी समस्या का सामना कर रहे होंगें. बच्चों को ऐसे आयोजन में सम्मिलित करना अपने भविष्य को सजग करना है. विद्यालय के प्राचार्य कमलेश ने कहा की इस प्रकार के आयोजन से बच्चो में जागरूकता भी आएगी और वो प्रकृति और उसके नियम का पालन भी करेंगे. और यही बच्चे ही हमारे भविष्य हैं.

अगर आज हम इनको सही दिशा दिखलाये तो बिना किसी रूकावट से हम विकसित और समृद्ध राष्ट्र की श्रेणी में आ जायेंगे. छात्राओं से संवाद सत्र के दौरान उपस्थित गणमान्यों ने बच्चों को सस्टेनेबल डेवलपमेंट के बारे में विस्तृत जानकारी दी. बच्चों ने भी सस्टेनेबल डेवलपमेंट पर आधारित प्रश्नो का उत्तर गणमान्यों से पाया.

चित्रकारी प्रतियोगिता में प्रथम तीन स्थान लाने वाले को ट्रस्ट द्वारा प्रमाण पत्र और मेमेंटो दे कर पुरस्कृत किया गया. साथ ही एक छात्रा को सांत्वना पुरस्कार भी दिया गया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*