बदले और रंगदारी की वजह से नौबतपुर में गुलाब गैंग ने दिया था डबल मर्डर को अंजाम

पटना : नौबतपुर डबल मर्डर केस की अनसुलझी गुत्थी को पटना पुलिस ने सुलझा लिया है. बदले की भावना से अजय सिंह को मौत के घाट उतारा गया. फिर रंगदारी की रकम नहीं देने पर पारस सिंह की गोली मारकर मौत की नींद सुला दी गई. दोनों वारदातों के बीच महज कुछ घंटों का ही फासला था. खास बात ये है कि इस डबल मर्डर को अपराधियों के एक ही गैंग ने अंजाम दिया. इलाके के कुख्यात अपराधी गुलाब उर्फ अमितेष कुमार उसके गुर्गों ने इस डबल मर्डर की वारदात को अंजाम दिया था.

अब कुख्यात गुलाब, उसके दो गुर्गे भरत और ललीत कुमार पटना पुलिस की गिरफ्त में हैं. इन तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है. इनके पास से पुलिस ने तीन देशी पिस्टल और 27 गोली बरामद की है. इन तीनों को पुलिस ने नौबतपुर के केसी रोड इलाके से पकड़ा. जहां पर ये एक साथ जुटे थे. इनके एक जगह पर होने की सूचना पुलिस को मिल चुकी थी.

दरअसल, डबल मर्डर केस को एसएसपी मनु महाराज ने काफी गंभीरता से लिया था. उनके आदेश पर ही गुलाब और उसके गुर्गों पर कड़ी नजर रखी जा रही थी. वारदात के बाद से ये सभी फरार चल रहे थे.

सुपारी थी विजय के नाम, पर मारा अजय को

गिरफ्तार किए जाने के बाद गुलाब और उसके गुर्गों से पूछताछ हुई. जिसके बाद ही डबल मर्डर की सच्चाई सामने आई. एसएसपी मनु महाराज के अनुसार जमीन कारोबारी विजय सिंह और शैलेश के बीच दोस्ती थी. लेकिन नगर पंचायत इलेक्शन के दौरान दोनों की दोस्ती दुश्मनी में बदल गई. इसी के बाद शैलेश ने अपराधी गुलाब से कांटैक्ट किया. फिर 50 हजार रुपए में विजय सिंह के मर्डर की सुपारी दे डाली. गुलाब मारने तो गया था विजय को. लेकिन मौके पर उसे विजय नहीं मिला. वहां उसका भाई अजय सिंह मौजूद था. इसलिए गुलाब ने अजय को ही गोली मार दी.

फिर जंग का अखाड़ा बना पटना कॉलेज ग्राउंड, भिड़ गए नूतन और इकबाल हॉस्टल के स्टूडेंट

इसके बाद गुलाब ने पारस सिंह को निशाना बनाया. पारस भी कारोबारी थे. उनसे गुलाब ने रंगदारी मांगी थी. रंगदारी की रकम नहीं मिलने की वजह से गुलाब ने पारस सिंह को भी गोली मार दी. फिर अपने गुर्गों के साथ फरार हो गया था. पकड़ा गया गुलाब लुलन शर्मा का बेटा है. जो खुद इस इलाके का कुख्यात और बड़ा अपराधी रह चुका है. एसएसपी के अनुसार इस मामले का स्पीडी ट्रायल होगा. अपराधियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*