नवम् वर्ग की वार्षिक परीक्षा की बढ़ गई डेट, अब 26 मार्च से

पटना : बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के आग्रह पर निदेशक, माध्यमिक शिक्षा ने शैक्षिक वर्ष 2017-18 के नवम् वर्ग की वार्षिक परीक्षा की तिथि में परिवर्तन किया है. अब यह परीक्षा 20 मार्च की जगह 26 मार्च से शुरू होगी. इस संबंध में जानकारी देते हुए बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने बताया कि बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सह विधान पार्षद केदाथनाथ पांडेय ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष को पत्र लिख कर मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन की तिथि बढ़ाने की मांग की थी.

लेकिन अध्यक्ष बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटरमीडिएट की मूल्यांकन की तिथि पांच मार्च से कर दी मगर मैट्रिक का मूल्यांकन 13 मार्च से कर दिया. ऐसी परिस्थिति में विद्यालय के प्रधान, उच्च माध्यमिक शिक्षक एवं माध्यमिक शिक्षक सभी मूल्यांकन कार्य में व्यस्त हो गए. साथ ही साथ लगभग सौ से अधिक विद्यालयों में मूल्यांकन केन्द्र बनाये गए हैं. इन परिस्थितियों में 20 मार्च से नवम वर्ग की परीक्षा लेना संभव नहीं था.

बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ द्वारा निकाली गई मोटर साइकिल रैली

इन परिस्थितियों से अवगत कराते हुए शिक्षा मंत्री व निदेशक माध्यमिक शिक्षा को बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सह विधान पार्षद केदाथनाथ पांडेय ने नवम वर्ग की परीक्षा को विस्तारित करने हेतू पत्र लिखा था. माध्यमिक शिक्षक संघ के आग्रह पर विचार करते हुए शिक्षा मंत्री ने नवम वर्ग की परीक्षा की तिथि विस्तारित करने का निदेश दिया जिस पर निदेशक, माध्यमिक शिक्षा ने आदेश निर्गत किया.

बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार ने बताया कि राज्यभर के तकरीबन 15 लाख छात्र व छात्राएं इस वार्षिक परीक्षा में शामिल होंगे.  उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन दो पालियों में परीक्षाएं आयोजित होंगी. सौ अंक वाले विषय की परीक्षा के लिए तीन घंटे का समय तथा 80 अंकों वाले विषय की परीक्षा के लिए ढाई घंटे का समय निर्धारित किया गया है. उन्होंने बताया कि विद्यालयों द्वारा नवम् वर्ग की छात्र व छात्राओं का प्रथम, द्वितीय सवाधिक तथा वार्षिक परीक्षा के प्राप्त अंक को मिला कर परीक्षाफल घोषित किया जायेगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*