बाज़ारों में बढ़ी रमज़ान की रौनक, लेकिन महंगाई से खरीदारी हुई कम, दुकानदार चिंतित

ramzan-tayyari

पटना (नियाज़ आलम) : रविवार से रमज़ान का पवित्र महीना शुरू होने वाला है. रोज़ेदार इसकी तैयारियों में भी जुट गए हैं. सेहरी और इफ्तार की ज़रूरी चीजों की खरीदारी के लिए लोग दुकानों तक पहुंचने लगे हैं. बाज़ार भी इसके लिए तैयार हो चुके हैं. बाज़ार में खूब रौनक देखने को मिल रही है. इफ्तार के समय रोजा खोलने के लिए सबसे पसंदीदा चीज खजूर है. खजूर से रोजा तोड़ना सुन्नत मन जाता है यही वजह है कि बाज़ार में खजूरों की ज़्यादा डिमांड है.

इसके अलावा लच्छे और सिवइयां भी लोगों की प्राथमिकता में हैं. इफ्तार में पकाने के लिए और भी चीजों की खरीददारी लोग कर रहे हैं. हालांकि महंगाई का असर यहां भी नज़र आने लगा है. लोग ज़रूरी समान की खरीददारी में भी कटौती करते नज़र आ रहे हैं. ऐसा ही नज़ारा पटना के मशहूर मुस्लिम बाज़ारों में से एक सब्ज़ी बाग़ में भी देखने को मिला.

ramzan-tayyari

यहां खजूर की दुकान लगाने वाले मोहम्मद हैदर के मुताबिक पिछले साल के मुकाबले इस साल रमज़ान को लेकर खजूर की कीमतों में लगभग 15-20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. फिलहाल बाज़ार में सौ रुपये किलो से लेकर 2400 रुपये किलो तक का खजूर उपलब्ध है. हालांकि ग्राहक 280 रुपये किलो तक का ही खजूर ज़्यादा खरीद रहे हैं.

खजूर विक्रेता प्रमोद कुमार के मुताबिक भी रमज़ान को लेकर फिलहाल कोई विशेष भीड़ नहीं है. खरीदारों की संख्या सामान्य दिनों की तरह ही है. महंगाई का असर केवल खजूरों पर ही नहीं है. लच्छे और सिवइयों की कीमतों में भी 10-15 प्रतिशत की बढ़ोतरी है.

लच्छेदार सेवैयाँ और पापड़ी

लच्छे और सेवइयों के दुकानदार मोहम्मद गुलरेज ने बताया कि वो बनारस से लच्छे और सेवइ मंगवाते हैं. वहां की किमामी और ज़रदे वाली सेवईं की काफी मांग होती है. गुलरेज ने भी कहा की इस बार दोनों ही चीजें पिछले साल के मुकाबले में महंगी हो गई है. सेवइ बेचने वाले दुकानदार सोनू का भी यही कहना है. सेवईं, लच्छे और खजूर के अलावा बाज़ार में इत्र और मिस्वाक की खरीदारी भी शुरू हो गई है. महिलाएं जहां खुशबू को प्राथमिकता दे रही हैं तो वहीं पुरुष मिस्वाक की खरीदारी करते नज़र आ रहे हैं.

बाज़ार में रमजान के रौनक की तस्वीरें देखें-

सेवैयों की खरीदारी करते लोग
इतर, रुमाल और टोपी की दुकानों पर भी बढ़ी रौनक
बाज़ार में इत्र और मिस्वाक की खरीदारी भी शुरू हो गई है

हर क्वालिटी के खजूर हैं बाज़ार में

यह भी पढ़ें – भारत में आज नजर नहीं आया रमज़ान का चांद, 28 मई से रखे जाएंगे रोज़े

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*