रौनक हत्याकांड : परिवार वालों ने पटना पुलिस की कार्यशैली पर उठाया सवाल

पटना सिटी (जुलकर नैन) : रौनक के परिवार के लोगों ने पटना पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस की टीम सुधीर कुमार के साथ घूम रही तो क्या एक और टीम मोबाइल नेटवर्क का पता करने में लगी रही तो आज मेरा लड़का मेरे साथ रहता. अगर बार-बार अपहरणकर्ता का मोबाइल लोकेशन संदलपुर बता रहा था तो पुलिस ने उस जगह पर छापेमारी क्यों नही की. अपहरणकर्ता रौनक को कहीं नही ले गया वो संदलपुर स्थ्ति अपने दुकान ही ले गया और वहीं उसे मार दिया.

बता दें कि पटना सिटी के अगमकुआँ थाना क्षेत्र के कुम्हरार बैठका इलाके का रहने वाला 15 वर्षीय छात्र रौनक की हत्या का मामला अब तूल पकड़ लिया है. इसी मामले में कल स्थानीय जनता के साथ छात्र -छात्रों भी लापरवाह पुलिस प्रशासन के खिलाफ हल्ला बोल दिया था. छात्र रौनक के हत्या के विरोध में पटना सिटी के कुम्हरार स्थित पुरानी बाईपास पर आगजनी कर मुख्य मार्ग को जाम कर हंगामा किया था. साथ ही रौनक की बरामदगी में लापरवाही बरतने वाले दोषी पुलिसकर्मियों की बरखास्तगी और कार्रवाई किये जाने की मांग कर रहे हैं.

सड़क जाम होने के कारण यातायात पूरी तरह प्रभावित रहा. जाम की सूचना पर पहुंची पुलिस ने आक्रोशित लोगो को शांत कराने की कोशिश की पर लोगों के आक्रोश ने पुलिस पर पथराव कर दिया और पुलिस को खदेर दिया और पास में ही खड़ी एक कार का आक्रोशित प्रदर्शनकारियों ने गाड़ी का शीशा तोड़ दिया. बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्की लाठिया भांजी. आक्रोशित लोगों का कहना था की रौनक का अपहरण का मामला दर्ज कराने के बाद भी पुलिस इस मामले में लापरवाही बरती और रौनक का सुराग मिलने का भरोसा देकर परिजनों को बरगलाती रही. समय रहते कार्रवाई की जाती तो रौनक जिन्दा रहता. वहीं छात्राओं ने रौनक की आत्मा की शांति के लिए कैंडिल मार्च भी निकाला.

गौरतलब है कि बीते चार दिन पूर्व स्कूल जाने के दौरान बाइक सवार द्वारा रौनक का अपहरण किया गया था. अपहरणकर्ता अपहरण करने के बाद परिजन से फोन पर 25 लाख की फिरौती की मांग किया. जिसकी सूचना परिजन ने पुलिस को लिखित रूप से दिया था. वहीं पुलिस अपहरण का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू किया. जहां पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अपहरणकर्ता का सुराग लगाया और उसके आधार पर पुलिस ने पड़ोसी विक्की पासवान को गिरफ्तार कर पूछताछ की. जहां उसने अपना जुर्म कबूल किया और अपहरण के दिन ही छात्र रौंनक की हत्या करने का खुलासा किया.

अपहरणकर्ता के बयान पर श्रृंगार कॉर्नर दुकान से छात्र रौनक के शव को बरामद किया गया. पुलिस की माने तो पड़ोस का रहने वाला अभियुक्त विक्की पासवान छात्र रौशन झांसे में लेकर स्कूल जाने के दौरान उसे मोटर साइकिल पर बैठाया और अपने श्रृंगार कॉर्नर दूकान पर लाया. जहाँ दूकान का शटर बंद कर रौनक का हाथ पैर बांध कर उसके मुँह पर टेप लगा दिया और परिजनों से 25 लाख रुपये की फिरौती की मांग किया. जब सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया तो विक्की पासवान रौनक को मोटर साइकिल पर बैठा कर दूकान तक लाने की फुटेज सामने आई.

जिसके आधार पर कड़ी पूछ ताछ की गई. जहां उसने अपने गुनाह कुबूल करते हुए दुकान में हत्या करने की बाई बताई और शव को दूकान में ही छिपा कर रखने की बात भी कबूला. फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी विक्की से कड़ी पूछताछ कर इस घटना में शामिल अन्य लोगों की गिरफ्तार करने की बात दुहराई हैपटना के फुलवारी शरीफ में देर रात दो लाशें मिलने से सनसनी, एक को पहचाना गया

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*