अब हॉस्टल के लिए करना होगा एनुअल पेमेंट, जेडी वीमेंस कॉलेज की छात्राओं को मिला नोटिस

पटना : विश्वविद्यालय के नए सत्र में नुकसान से बचने के लिए जेडी वीमेंस कॉलेज ने एक रूल निकाला है. हर साल ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए छात्राएं कॉलेज हॉस्टल में अपना नामांकन करती है. शहर के अब सभी महिला कॉलेजों में हॉस्टल की सुविधा मौजूद है. मगध महिला कॉलेज, पटना वीमेंस कॉलेज और जेडी वीमेंस कॉलेज के हॉस्टल में छात्राओं की लंबी लाइन रहती है. ऐसे में जेडी वीमेंस कॉलेज में एक नया नोटिस जारी कर दिया गया है.

नोटिस में नये सत्र में एडमिशन लेेनेवाली छात्राओं को एक बार में ही हॉस्टल का एनुअल पेमेंट करना होगा. हॉस्टल की सुपरिटेंडेंट प्रो लज्जा चतुर्वेदी ने बताया कि हॉस्टल में पहले छात्राएं अपना पेमेंट इंस्टॉलमेंट वाइज करती थी. लेकिन, धीरे-धीरे छात्राओं का फीस बकाया रहने लगी. लगातार कॉलेज द्वारा नोटिस और रिमाइंडर लगाने के बावजूद छात्राएं अपनी पेमेंट नहीं करती है.

ऐसे में कॉलेज को नुकसान हो रहा था. हर रोज अभिभावक को रिमाइंडर नहीं लगाया जा सकता है. ऐसे में कॉलेज की प्राचार्या डॉ शशि सिंह ने निर्णय लिया कि नये सत्र से छात्राओं को एनुअल पेमेंट करनी होगी, वहीं पुरानी छात्राओं को भी एनुअल पेमेंट करना होगा.

पहले से रह रही छात्राओं के लिए नोटिस

हॉस्टल में जिन छात्राओं ने हॉस्टल का एनुअल पेमेंट 2017 में किया, उनके लिए नोटिस जारी किया गया है. नोटिस में छात्राओं को निर्देश दिया गया है कि जो छात्राएं हॉस्टल में रहना जारी रखना चाहती है, तो उन्हें जुलाई 2018 से जून, 2019 तक का एनुअल पेमेंट करना होगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*