खराब खाने की शिकायत निकली झूठी, जवान तेज बहादुर BSF से बर्खास्त

लाइव सिटीज डेस्क : जवान तेज बहादुर को BSF ने बर्खास्त कर दिया है. सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करके बीएसएफ जवानों को खराब खाना परोसे जाने की शिकायत करने वाले जवान तेज बहादुर पर BSF ने कड़ी कार्रवाई करते हुए कहा कि तेज बहादुर ने झूठी शिकायत करके सेना की छवि खराब करने की कोशिश की. कोर्ट ऑफ इंक्वॉयरी में यह बात सामने आई कि जिन भी जवानों से पूछताछ की गई, उनमें से किसी ने भी खराब खाना परोसे जाने की शिकायत नहीं की.

बता दें कि तेज बहादुर ने फेसबुक पर चार वीडियो शेयर किए थे. इन वीडियो में जली रोटी, पानी वाली दाल को दिखाया गया था. मीडिया में मामला उजागर होने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने तत्काल मामले की जांच का आदेश दिया था. बीएसएफ ने मामले पर सफाई देते हुए खराब खाना दिए जाने से इनकार किया था. इसके अलावा अधिकारियों ने यादव पर अपनी सेवा शर्तों का उल्लंघन करने का भी आरोप लगाया था. 
तेज बहादुर के परिवार ने यह भी आरोप लगाया था कि जवान को धमकाया जा रहा है और उन्हें मानसिक यातना दी जा रही है. पीएमओ ने इस मामले में गृह मंत्रालय और बीएसएफ से रिपोर्ट मांगी थी. यादव ने अपने सीनियर अधिकारियों पर भी भोजन की राशि के नाम पर घपला करने का आरोप लगाया था.

इसके बाद यह वीडियो वायरल हो गया था. तेज बहादुर यादव ने फेसबुक पर वीडियो शेयर कर सनसनी फैला दी थी. इस वीडियो में उन्होंने अपने उच्च अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाए थे. उनका आरोप था कि सरकार की तरफ से भेजा जाने वाला राशन उनके वरिष्ठ अधिकारी बाजारों में बेच देते हैं और जवानों को कुछ नहीं मिलता. 

42 वर्षीय यादव हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के रहने वाले हैं. वो 1996 में बीएसएफ में भर्ती हुए थे। उन्हें जम्मू-कश्मीर स्थित राजौरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के निकट तैनात किया गया था.

यादव 2032 में रिटायर होने वाले थे लेकिन उससे पहले ही बीएसएफ ने उन्हें नौकरी से बर्खास्त कर दिया. खबरें ऐसी भी आई थीं कि यादव ने इस विवाद के बाद स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) की अर्जी दी थी. लेकिन उस पर कोई फैसला लेने से पहले अधिकारियों ने उसे बर्खास्त कर दिया.

यह भी पढ़ें-  वायरल : तेज बहादुर रोता है, रक्षा मंत्री सोता है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*