आज 1 अप्रैल को जरा हंस लें,अंदर ऐसे ही और भी मजेदार जोक्स हैं…

probleme

-विमलेन्दु सिंह-

‘अप्रैल फूल बनाया तो उनको गुस्सा आया. मेरा क्या कसूर जमाने का कसूर जिसने दस्तूर बनाया.’ जी हां, अप्रैल फूल का दस्तूर है तो हम भी इसे मानेंगे. मानेंगे भी और मनाएंगे भी. लेकिन आपको गुस्सा नहीं दिलाएंगे. बस थोड़ा—सा गुदगुदाएंगे. आखिर लाइव सिटीज चाहता भी तो यही है कि मुस्कान हमेशा आपके चेहरे पर तैरती रहे. आप हमेशा खिलखिलाते, गुनगनाते रहें और हमारा दोस्ताना हमेशा कायम ही न रहे, दूसरों के लिए मिसाल बन जाए. तो फिर अप्रैल फूल की चुलबुलाती शुभकामनाएं स्वीकार करें.

कुछ चीजें तो उपवास में भी खाते हैं

सलाह देने वाले भइया, आॅलवेज आॅन ड्यूटी

सच्चा प्यार किस काउंटर पर मिलेगा?

बाइक धूप में न लगाएं, गर्लफ्रेंड बैठी तो ब्रेकअप हो जाएगा.

तुम किसके साथ बाइक पर….टुंईं..टुईं…ले लोटा बैंलेंसवे खतम हो गया


नाजुक कमर नहीं, नाइन बाय नाइटीन का कमरा

 बीबी करे मेकअप और मैं बजाउं बीन


वो तो बस इसलिए कि कह सकूं…सरकार, मैंने आपका नमक खाया है


स्साला…मुझे वाकओवर दे देता


पता है कि इसकी कोई जरूरत नहीं, लेकिन मैं जेब से रूमाल निकाल रहा हूं, लिफाफा नहीं… 


गैस भुक..भुक कर रहा है तो ​सिलेंडर को टेढा करो, चाय तो बन ही जाएगी…

सभी स्ट्रिप्स Storypic से साभार

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*