एडमिशन नहीं होने से आक्रोशित छात्राओं का ‘हल्ला बोल’

पटना (जुलकर नैन) पटना सिटी के गुलज़ारबाग़ हाट के पास स्तिथ कुशवाहा मध्य विधालय में पांचवी की छात्राओं को पास होने के बावजूद 130 छात्राओं का नामांकन नहीँ लिया जा रहा हैं. छात्राओं ने कुशवाहा बालिका उच्य विधालय की प्राचर्या मनोरमा देवी पर आरोप लगाते हुए कहा की मनोरमा देवी एक कोचिंग चलाती हैं और उसी ने अपने कोचिंग के बच्चों को स्कूल में एडमिशन लिया है. यहां बच्चों को कह रही हैं की आप कहीं और स्कूल में जाओ.

पांचवी की छात्रा सजना कुमारी का कहना हैं की जब वार्षिक परीक्षा में प्रथम श्रेणी आया है उसके बावजूद हम लोगों का एडमिशन नहीँ लिया जा रहा है. कक्षा पांचवी की 130  छात्राओं का नामांकन नहीँ लिया गया है. छात्राओं का कहना हैं की हम लोगों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.

उधर छात्राओं के परिजनों का कहना हैं की तीन दिन से हम लोगों के बच्चों का एडमिशन नहीँ लिया जा रहा है. जबकि नियम के अनुसार जो बच्चे कुशवाहा मध्य विधालय में पांचवी कक्षा तक पढ़ते हैं. पांचवी कक्षा पास करते हैं. तो उसका नामांकन आसानी से कुशवाहा बालिका ऊच्च विधालय में हो जाना चहिये पर ऐसा नहीं हुआ.

परिजनों का कहना है कि मुख्यमंत्री कहते हैं की बेटी पढाओ बेटी बचाओ और यहा. की प्राचार्य कहती हैं बेटी भगाओ. छात्राओं के अभिवावकों का कहना है की अगर हम लोगों के बच्चों का नामांकन फ़िर से नहीं लिया जायेगा तो हम लोग अपने बच्चों के भविष्य के लिये कुछ भी करने को तैयार हैं.

कुशवाहा बालिका उच्य विद्यालय की प्रिंसिपल मनोरमा देवी ने कहा की ये कुस्वाहा मध्य विद्यालय जो हैं वो कुशवाहा क्षत्रिय हितैषी पंचित बैठका समिति के तरफ से चलता हैं और पंचित के सदस्य ये चाहते हैं की जो बच्चे परीक्षा में पास नहीं हुए हैं उनका भी नामांकन उच्य विधालय में हो. प्रिंसिपल मनोरमा देवी ने कहा 2 मई से परीक्षा में पास हुई छात्राओं का नामांकन किया जाएगा.

वहीं कुशवाहा बालिका उच्य विधालय की प्राचर्या मनोरमा देवी और कुशवाहा क्षत्रिय हितैषी पंचित बैठका समिति पर कानूनी कारवाई का मामला हाई कोर्ट में चल रहा है. कुशवाहा क्षत्रिय हितैषी पंचित बैठका समिति के सचिव पंकज मेहता ने पूर्व से ही संस्था के द्वारा ये स्कूल चल रहा हैं और कहा की पांचवा कक्षा से जो बच्ची पास होती है.

उनका नामांकन छठे कक्षा में नामांकम होता हैं प्रिंसिपल मनोरमा देवी की मनमानी के चलते आज छात्राओं के द्वारा हंगामा किया इससे पूर्व हम लोगों ने पहले भी अनुमंडल प्रसाशन और शिक्षा विभाग के वरीय पदाधिकारी को लिखित आवेदन दिया हैं.

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*