गुड फ्राइडे : ईसाई धर्म का पवित्र त्यौहार, इस दिन सूली पर चढ़े थें ईसा मसीह

Good-Friday

लाइव सिटीज डेस्क : 14 अप्रैल को गुड फ्राइडे है और कई लोग इस दिन मिलने वाली छुट्टी को लेकर उत्सुक है. गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के अनुयायी गिरजाघर जाकर प्रभु यीशु को याद करते हैं. क्या आपने कभी सोचा है कि ये फ्राइडे ‘गुड’ क्यों है.

ईसाइयों के अनुसार, यह दिन उनके लिए खास है. यह त्यौहार पवित्र सप्ताह के दौरान मनाया जाता है, जो ईस्टर सन्डे से पहले पड़ने वाले शुक्रवार को आता है. ईसाई धर्म ग्रंथों के अनुसार जिस दिन ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया व मसीह ने प्राण त्यागे थे उस दिन शुक्रवार का दिन था और इसी की याद में गुड फ्राइडे मनाया जाता है. अपनी मौत के तीन दिन बाद ईसा मसीह फिर जीवित हो उठे और उस दिन रविवार था. इस दिन को ईस्टर संडे कहते हैं.

इस साल यह पवित्र सप्ताह इस साल 9 अप्रैल को रविवार शुरु हुआ और शनिवार, 15 अप्रैल तक चलेगा. रविवार, 16 अप्रैल को ईस्टर मनाया जाएगा.

ईसा मसीह को गुड फ्राइडे के दिन सूली पर चढ़ा दिया गया था. इससे पहले रविवार के दिन उन्हें येरूशलम लाया गया था. जब ईसा मसीह ने येरूशलम में प्रवेश किया, तो उनके अनुयायियों ने उनके स्वागत में खजूर (पाम) के पत्ते सड़क पर बिछाये और खजूर के पत्तों को हाथ में लेकर उनका स्वागत गान किया. इसलिए इसे पाम संडे कहते हैं.

Good-Friday

इस सप्ताह में ऐश वेंस्डे, ग्रेट थर्सडे और गुड फ्राइडे शामिल है. यह कहा जाता है कि उनके स्वागत के बाद इन खजूर के पत्तों को जलाया गया और उसकी राख को ऐश वेंस्डे के दिन यूज की गई. ग्रेट थर्सडे को ईसाई याद करते हैं कि ईसा मसीह ने कब आखिरी बार खाना खाया था.

भारत में ही नहीं दुनियाभर में गुड फ्राइडे और ईस्टर को सेलिब्रेट किया जाता है. इन दोनों दिन लोग इस दिन चर्च में जाते हैं और उनके धर्म से संबंधित गीत गाते हैं, प्रार्थना करते हैं, कहीं जगह नृत्य और अन्य कार्यक्रम के आयोजन होते हैं. सभी एक दूसरे को गिफ्ट्स, फ्लावर्स, कार्ड, चाॅकलेट, केक देकर विश करते हैं. गुड फ्राइडे के दिन कई देशों में हाॅलीडे रहता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*