राजधानी में ऑपरेशन विश्वास का प्रहार जारी, 29 अरेस्ट, भारी मात्रा में शराब जब्त

पटना (नियाज़ आलम) : राज्य में पूर्ण शराबबंदी के बाद से अवैध शराब के कारोबार पर पटना पुलिस का प्रहार जारी है. ऑपरेशन विश्वास के तहत पुलिस लगातार अवैध शराब का धंधा करने वालों को दबोच रही है. इसी क्रम में 11 अलग-अलग थानाक्षेत्रों में की गई कार्रवाई के तहत एक महिला समेत 29 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. आरोपियों के पास से देसी शराब के साथ भारी मात्रा में विदेशी शराब भी बरामद की गई है.

एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि आरोपियों के पास से 110 पाउच समेत 72 लीटर व 286 बोतल विदेशी शराब बरामद की गई है. बता दें कि ऑपरेशन विश्वास के तहत अब तक 1044 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल हैं. दरअसल एसएसपी मनु महाराज के निर्देश और एएसपी (अभियान) राकेश कुमार दूबे के नेतृत्व में चल रहे ऑपरेशन के तहत पटना पुलिस दिन रात कार्रवाई में जुटी है. रोज़ाना अवैध शराब के साथ धंधेबाज़ों को दबोचा जा रहा है. ऑपरेशन विश्वास के तहत पुलिस टीम सादे लिबास में भी पुलिस बल तैनात किये गए हैं.

जमीन कब्जाने वाला कुख्यात सोनू कुमार गिरफ्तार

ऑपरेशन विश्वास के तहत वाहनों की चेकिंग के दौरान पुलिस ने एक कुख्यात अपराधी सोनू कुमार को पिस्टल व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया. एसएसपी के मुताबिक आरोपी सोनू कुमार पुत्र दिलीप चौधरी को मालसलामी थानाक्षेत्र के चाईटोला में वाहन चेकिंग के दौरान एक पिस्तौल और चार ज़िन्दा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया है. आरोपी चाईटोला का ही रहने वाला है.

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह जिले के बड़े-बड़े भू-माफियाओं के सम्पर्क में था. उसका काम विवादित जमीन को कब्जा करने, किसी गरीब की जमीन को बिल्डर के हाथों एग्रिमेंट करवा कर कब्जा दिलवाने, जमीन की खरीद बिक्री करने वालों से रंगदारी लेने का है. पुलिस के मुताबिक सोनू का वर्चस्व राजधानी के अलावा अन्य जिलों में भी है. आरोपी का इतना खौफ है कि गरीब जमीन मालिक या तो जमीन छोड़कर हट जाते हैं या फिर सस्ती कीमत पर बेच देते हैं.

यह भी पढ़ें-

31 मई को फतुहा बंद करेंगे सांसद पप्पू यादव

आपरेशन विश्वास के तहत 5 गिरफ्तार

पुलिस ने ग्रामीणों के साथ की मीटिंग, दिलाया शराब से दूर रहने का संकल्प 

About Md. Saheb Ali 440 Articles
Md. Saheb Ali

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*