शराब के अवैध कारोबार ने ली थी विक्की की जान, और 5 हुए अरेस्ट

पटना : अभिषेक उर्फ विक्की के रहस्यमय तरीके से लापता होने और उसकी हत्या किए जाने के पूरे मामले का पटना पुलिस ने खुलासा कर दिया है. शराब के अवैध कारोबार को लेकर हुए झगड़े की वजह से उसकी हत्या कर दी गई थी.

पुलिस के अनुसार हत्या कई लोगों ने मिलकर की थी. जिसमें मेन सरगना शंकर पहले से जेल में है. जबकि 19 अगस्त को विक्की के परिवार वालों की सहायता से कोतवाली थाने की पुलिस ने सोनू और उसके एक साथ हो अरेस्ट किया था. लेकिन अब पटना पुलिस ने इस हत्या के पूरे रहस्य से पर्दा उठा दिया है.

विक्की की हत्या करने और उसके लाश को ​ठिकाने लगाने में शामिल 5 और अपराधियों को पुलिस टीम ने अरेस्ट कर लिया है. जिसमें गणेश कुमार, सन्नी, मो. निसार उर्फ सलवा, गणेश और संदीप कुमार शामिल हैं. हत्या में शामिल इन अपराधियों के पास से पुलिस ने संदीप के उस कार को बरामद किया, जिसमें बोरे में पैक कर विक्की की लाश को रखा गया था. उसी कार से गर्दनीबाग रोड नंबर 6 में ले जाकर लाश को ठिकाने लगा दिया गया था. उस चाकू को भी बरामद किया गया, जिससे विक्की की हत्या की गई थी. विक्की के मोबाइल फोन को भी बरामद कर लिया गया है.

पानी वाला बन कर किराए पर लिया था रूम

हत्या की पूरी प्लानिंग शंकर ने रची थी. इसने ही 5 जून को पुरंदरपुर में संदीप के घर किराए पर कमरा लिया. वो भी ये बोलकर कि पटना स्टेशन पर पानी बेचते हैं. संदीप ने कमरा दे ​भी दिया. इसके बाद 6 जून को शंकर और उसके छोटे भाई गणेश ने मिलकर विक्की को रूम पर बुलाया था. इसके बाद ही शराब पीने—पिलाने का दौड़ चला और उसके बाद विक्की की हत्या कर दी गई. 7 जून को रूम को बंद कर सभी फरार हो गए थे.

यहां पढ़ें पूरा मामला – 6 जून से लापता विक्की की हो चुकी है हत्या, अब सामने आई सच्चाई

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*