बिहटा में कारोबारी से कुख्यात मनोज सिंह ने मांगी रंगदारी, FIR दर्ज

crime-1

बिहटा (मृत्युंजय कुमार): पटना जिले के पुलिस कप्तान मनु महाराज को हैदराबाद ट्रेनिंग पर गये तीन भी नहीं दिन हुये हैं कि बिहटा में अपराधियों ने अपना जलवा दिखाना शुरू कर दिया है. कुख्यात अपराधी मनोज सिंह ने बिहटा के इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबारी से रंगदारी मांग दहशत फैला दिया है. कारोबारी ने FIR दर्ज कराया है. मनोज सिंह गिरोह ने बाजार में दहशत फैलाया है कि कुख्यात अमित एवं पवन चौधरी को रंगदारी दोगे तो हमको भी देना होगा.

देश का दूसरा ग्रेटर नोयडा कहा जाने वाला बिहार की राजधानी पटना से सटे बिहटा में वर्चस्व को लेकर अपराधियों की सक्रियता बढ़ गयी है. निर्भय सिंह हत्याकांड एवं केसरी दवा दुकान पर गोलीबारी के बाद कारोबारियों में दहशत का आलम है.

प्रतीकात्मक तस्वीर

सब कुछ सही ही चल रहा था कि इसी बीच SSP मनु महाराज को हैदराबाद ट्रेनिंग के लिए जाना पड़ा. करीब एक माह बाद मनु महाराज लौटेंगे. ग्रामीण SP लाल मोहन प्रसाद SSP  के प्रभार में हैं. SSP  मनु महाराज के नहीं रहने के स्थिति में बिहटा पर वर्चस्व को लेकर कई अपराधी गिरोह सक्रिय हो गये हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर

बीते रविवार को गणपति इलेक्ट्रॉनिक दुकान के मालिक निशू उर्फ निशांत कुमार सिंह से कुख्यात अपराधी मनोज सिंह ह्वाट्स ऐप कॉलिंग से रंगदारी की मांग की थी. इस संबंध में बिहटा थाने में FIR दर्ज करायी गई है. वहीं सूत्रों की मानें तो मनोज सिंह का गुर्गों ने बाजार के कारोबारियों के बीच दहशत पैदाकर दिया है कि जब तुम लोग अमित सिंह एवं पवन चौधरी को रंगदारी दोगे तो हमको भी देना होगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर

ऐसी सूचना है कि उक्त तीनों गिरोह बालू कारोबारियों से भी रंगदारी की मांग किया हैं. कई बालू कारोबारी इन लोगों के टारगेट पर हैं. बिहटा पुलिस मामले की छानबीन करते हुए बतलाया है कि बहुत जल्द मामला का सुलझाकर अपराधी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. घटना के बाद बिहटा के व्यवसायी काफी दहशत मेंं हैं. उनका कहना है कि अगर जल्द अपराधियों पर प्रशासन लगाम नहीं लगाती है तो हमलोग बिहटा में धंधा रोजगार बंद कर देने को विवश होंगे.

Super30 के #आनंदकुमार का वीडियो देखिये, जान जाएंगे #IIT में सक्सेस का मंत्र . आपके बच्चे भी जा सकते हैं, इंजीनियरों की नौकरी पर भी कर रहे हैं बात…

 

About Vimalendu Singh 30 Articles
आकाशवाणी के युववाणी कार्यक्रम से पत्रकारिता का संक्रमण लगा. छात्रजीवन में स्वतंत्र रूप से लेखन. तदुपरांत नवभारत टाइम्स के 'हैलो दिल्ली' और 'शुभागमन' एवं दैनिक जागरण के 'नोयडा सिटी' 'जोश' एवं 'प्रॉपर्टी' के लिए दो वर्षों तक फीचर लेखन. 'विचार सारांश', 'मेरी संगिनी', 'द संडे इंडियन' 'चौथी दुनिया' में सब एडिटर, असिस्टेंट एडिटर, एसोसिएट एडिटर, डिप्टी एडिटर की जिम्मेवारी संभालने के बाद. ढाई वर्षों तक स्वतंत्र रूप से अनुवाद का कार्य. इंटरेस्ट का फील्ड आर्ट, कल्चर, ट्रेवल, फूड, कॅरियर वगैरह. ढाई वर्षों तक 'किलकारी', बिहार बाल भवन, मगध प्रमंडल, गया में प्रमंडल कार्यक्रम समन्वयक. संप्रति विगत एक साल से बिहार के सबसे प्रमुख वेब पोर्टल 'लाइव सिटीज' से जुड़कर कार्य. मुख्य अभिरूचि ट्रैवल, फोटोग्राफी, म्यूजिक, थियेटर

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*