जहानबाद से आकर पटना में लूटी थी ई—कार्ट की गाड़ी, 12 लाख से अधिक का था सामान

पटना : जहानाबाद के जिले अपराधी पटना में एक्टिव हैं. वो रात के अंधेरे में पटना की सीमा में घूसते हैं. 5—6 की संख्या में ये अपराधी हथियार से लैश होकर बाइक से आते हैं. ​फिर हाइवे पर लूट की वारदात को अंजाम दे, बड़े आराम से फरार हो जाते हैं. कई बार इस प्रकार के आपराधिक वारदातों को अंजाम देने के बाद भी अपराधी बच निकलते हैं. लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ. 27 फरवरी को पटना के पालीगंज थाना के तहत अपराधियों ने कुरकुरी मोड़ के पहले ई—कार्ट की एक वैन को लूट लिया था. वैन में फ्लिपकार्ट कंपनी के 12 लाख रुपए से अधिक के सामान लोड थे.

एसएसपी मनु महाराज

सारे सामान आॅर्डर कर पब्लिक की ओर से मंगाए गए थे. फ्लिपकार्ट से मंगाए गए सामानों को ई—कार्ट की टीम डोर—टू—डोर डिलीवरी करने के काम करती है. लूटे गए सामानों में ज्वेलरी, कूलर, जूता और कपड़े समेत दूसरे कीमती सामान थे. लूट के इस मामले में पालीगंज थाना में एफआईआर दर्ज किया गया था.

पकड़ा गया अपराधी धीरज यादव

वारदात के बाद से ही पालीगंज के एसडीपीओ मनोज पांडेय और थाने की पुलिस टीम अपराधियों की टोह में लगी थी. जांच के दौरान एक के बाद एक कई क्लू पुलिस टीम के हाथ लगते गए. मिले क्लू के आधार पर ही पटना पुलिस की टीम जहानाबाद जा पहुंची. जहानाबाद जिले के करपी थाना के तहत शिवा बीघा गांव में पटना से गई पुलिस टीम को सिविल में कई दिनों तक घूमना—फिरना पड़ा.

एसडीपीओ मनोज पांडेय

इलाके में रेकी के दौरान संदिग्ध धीरज यादव के बारे में पता चला. उसके पर नजर रखी जाने लगी. फिर ठोस सबूत मिलने के बाद पुलिस टीम ने धीरज यादव के घर में छापेमारी की. घर के अंदर छुपाकर रखे गए लूट के काफी सारे सामान को बरामद कर लिया गया. पुलिस टीम बरामद सामान और धीरज को गिरफ्तार कर पालीगंज ले आई जहां उससे पूछताछ की गई. महत्वपूर्ण बात यह है कि पकड़े गए और गिरफ्तारी से बचे लेकिन पहचान लिए गए सभी अपराधी फ्लिपकार्ट के लिए काम कर चुके थे और हाल फिलहाल ही उससे अलग हुए थे.

देखें वीडियो : नियोजित शिक्षकों के हक में सुप्रीम कोर्ट , बिहार सरकार से पूछा गया है – चपरासी का वेतन 36 हजार और शिक्षक का वेतन कम, आखिर क्यों, जवाब दो ?

एसएसपी मनु महाराज की मानें तो लूट की वारदात में 5—6 अपराधी अब भी फरार हैं. सभी की पहचान कर ली गई है. उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*