बोले पप्‍पू यादव – बाढ़ को राष्‍ट्रीय आपदा घोषित करे केंद्र सरकार…

पटना: जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने बिहार में आयी बाढ़ की विभीषिका को राष्‍ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है. आज पटना में पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में बाढ़ से डेढ़ करोड़ लोग प्रभावित हैं. 5000 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गयी है. राहत और पुनर्वास के नाम पर सरकार पीड़ितों के साथ छलावा कर रही है.

पप्पू यादव ने कहा कि बाढ़ की आपदा अपराधी, नेता और इंजीनियरों के लिए वरदान साबित होती है. राहत व पुनर्वास के नाम पर लूट मची होती है. उन्‍होंने कहा कि बाढ़ से होने वाली मौत के लिए सिंचाई मंत्री को जिम्‍मेवार माना जाना चाहिए और उनके खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए. सांसद ने कहा कि वे पिछले कई दिनों से बाढ़ प्रभावित सुपौल, सहरसा, मधेपुरा, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, खगडि़या जिलों का दौरा कर रहे हैं. कहीं भी सरकारी स्‍तर पर राहत व पुनर्वास की कोई व्‍यवस्‍था नहीं है. राहत के नाम पर मिलने वाली खाद्य सामग्री घटिया स्‍तर की है. राहत सामग्री के वितरण में भी भेदभाव किया जा रहा है.

यादव ने कहा कि फरक्‍का बराज का पुनर्निर्माण किया जाना चाहिए ताकि गाद की समस्‍या का समाधान हो सके. उन्‍होंने कहा कि नदियों में गाद के कारण ही बाढ़ की स्थिति भयावह हो जाती है. इससे लाखों लोग प्रभावित होते हैं. उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करते हैं, लेकिन प्रभावित गांवों और पीडि़तों के पास नहीं जा रहे हैं. उन्होंने जन अधिकार पार्टी (लो) की ओर से गरीब परिवार के बच्‍चों को तकनीकी और उच्‍च शिक्षा के लिए विशेष पहल की शुरुआत करते हुए कहा कि इस अभियान से अधिकाधिक लोगों को जोड़ा जाए.

हरियाणा के करनाल स्थि‍त जेके ग्रुप ऑफ इंस्‍टीट्यूट के तत्‍वावधान में बीपीएल परिवार के बच्‍चों का नामांकन और शिक्षा का अभियान शुरू हुआ है. उन्‍होंने कहा कि अनिवार्य और समान शिक्षा के बिना देश का सर्वांगीण विकास नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि बिहार के विकास में युवाओं का योगदान सबसे अधिक है और उन्‍हें इस दिशा में और पहल करनी चाहिए.

इस मौके पर पार्टी के राष्‍ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद, महासचिव प्रेमचंद सिंह व राजेश रंजन पप्‍पू, अभियान समिति के अध्‍यक्ष आनंद मधुकर यादव व प्रवक्‍ता श्‍याम सुंदर, जन अधिकार छात्र परिषद के उपाध्‍यक्ष विकास बॉक्‍सर, प्रधान महासचिव आजाद चांद आदि मौजूद थे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*