सुशील मोदी की बर्खास्तगी और सृजन घोटाले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर राजद का राज्यव्यापी पुतला दहन

पटना(नियाज आलम) : पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार सृजन घोटाले की जांच सीबीआई द्वारा कराने और इस महाघोटाले में मुख्य रूप से संलिप्त उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर राष्ट्रीय जनता दल द्वारा राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का रविवार को पुतला जलाया गया. पटना में राजद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामचन्द्र पूर्वे के नेतृत्व में राजद कार्यकर्ताओं ने आयकर गोलंबर पर मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री का पुतला जलाया गया. इसके पूर्व राजद कार्यकर्ता पार्टी के प्रदेश कार्यालय से सृजन महाघोटाले की जांच सीबीआइ से कराने और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को बर्खास्त करने संबंधित नारा लगाते हुए जुलूस के रूप में आयकर गोलंबर पहुंचे.
इस अवसर पर डॉ. पूर्वे ने कहा कि हर्षद मेहता के शेयर घोटाले की तरह सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड के माध्यम से एक हजार करोड़ रूपये से अधिक की राशि फर्जी तरीके से गबन की गई. यह संभव नहीं है कि इतने बड़े घोटाले की जानकारी सरकार को नहीं हो. उन्होंने कहा कि 2013 में ही रिजर्व बैंक ने इस घोटाले का जांच करने का आदेश दिया था, जिसे सरकार द्वारा दबा दिया गया. पूर्वे ने कहा कि इस सृजन महाघोटाले में प्रत्यक्ष रूप से उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का नाम आ रहा है. भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात करने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपेक्षा है कि नैतिकता के आधार पर उन्हें स्वयं इस्तीफा दे देना चाहिए. साथ ही उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को अविलंब मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर देना चाहिए. राजद नेता ने कहा कि जिस प्रकार इस महाघोटाले का राज परत दर परत खुल रहा है, उससे लगता है कि एक हजार करोड़ से भी ज्यादा की सरकारी राशि का फर्जी तरीके से गबन किया गया है.
उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार इस महाघोटाले के मुख्य साजिशकर्ताओं को बचाने की अभियान में लगी हुई है. अतः इसकी जांच सीबीआइ से कराई जाय. राजद के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने बताया कि राज्य के सभी जिला मुख्यालयों पर रविवार को राजद कार्यकर्ताओं द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का पुतला जलाकर इस महाघोटाले की जांच सीबीआइ से कराने एवं उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को अविलंब बर्खास्त करने की मांग की गई.
पटना में आयोजित पुतला दहन के कार्यक्रम में प्रदेश महासचिव प्रो. रामबली चन्द्रवंशी, फैयाज आलम कमाल, देवकिशुन ठाकुर, राजेश पाल, संजीव राय, बल्ली यादव, नन्दू यादव, डॉ. प्रेम कुमार गुप्ता, प्रमोद राम, राजा चौधरी, मो. कारी सोहैब, पीके चौधरी, विजय कुमार यादव, सुरेन्द्र यादव, चंदन कुमार चौधरी, महताब आलम, निराला यादव, खुर्शीद आलम सिद्दिकी, ई. अशोक यादव, भाई अरूण कुमार, सत्येन्द्र पासवान, प्रो. सेवा यादव, विनोद कुमार यादव, निरंजन कुमार चन्द्रवंशी, चन्देश्वर प्रसाद सिंह, सतीश कुमार चन्द्रवंशी, शोभा पासवान, बागेश्वर कुमार बबलू, अरूण कुमार यादव, रणविजय साहू, प्रमोद कुमार सिन्हा, प्रमोद यादव, अशोक यादव, शेखर यादव, एपी सिंह, सुरेन्द्र कुमार, डॉ. उर्मिला कुमारी पाल ने विरोध जताया.
जबकि प्रतिभा कुमारी, नवनीत कुमार यादव, कुन्दन राम, कृष्णा ठाकुर, रतन यादव, कपिलेश्वर राम, मो. शाहीद जमाल, नंद किशोर यादव, राकेश यादव, मो. सैफ अली, विशाल यादव, हेमंत सिंह, टिंकू यादव, मो. शंभू कुमार, राॅकी यादव, प्रो. राकेश कुमार यादव, रविन्द्र सिंह, सुरेन्द्र सिंह यादव, शिवकुमार यादव, पप्पू यादव, सिद्धनाथ यादव, पिंटू यादव, मो. इमत्याज अंसारी, शिवराज यादव, मो. फारूक रजा, रामराज यादव, राजू यादव, पवन वर्मा, रवि गौरव, अहमद हुसैन, आरजू कुमार, आदर्श कुमार, सुभम कुमार, दीपक कुमार, आसू रजा, मुकेश कुमार, दीपक कुमार, चित्तरंजन गगन सहित भारी संख्या में राजद, युवा राजद, छात्र राजद, महिला राजद एवं विभिन्न प्रकोष्ठों से जुड़े कार्यकर्ता शामिल रहे.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*