तू स्वर की देवी, हर संगीत तुझसे… गाकर नीतू ने की मां सरस्वती की आराधना

पटना : माता सरस्वती पूजनोत्सव और वसंत पंचमी के शुभ अवसर पर राजधानी पटना स्थित इंद्रपुरी साईं क्लब द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने ज्ञान, गीत-संगीत और संस्कृति की अधिष्ठात्री देवी माता सरस्वती की आराधना करते हुए अनेक भक्ति गीत प्रस्तुत किए.

कार्यक्रम की शुरुआत में उन्होंने महाप्राण कवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला द्वारा रचित ‘वर दे वीणावादिनी, वर दे’ की संगीतमय प्रस्तुति दी. उसके बाद उन्होंने ‘तू स्वर की देवी, है संगीत तुझसे; हर शब्द तेरा, है हर गीत तुझसे. मन से हमारे मिटा दे अंधेरे, हमको उजालों का संसार दे मां.’ गीत प्रस्तुत करके सबको भाव विभोर किया. मां सरस्वती से ज्ञान प्राप्ति हेतु विनती करते हुए उन्होंने सुनाया- ‘वीणा वाली मईया सुनी अरजिया हमार, हम त बानी अज्ञानी हो; भरी द अचरवा में ज्ञान के अंजोरिया की हम त बानी अज्ञानी हो’

मां सरस्वती को संगीत और सात सुरों की देवी के रूप में आने का निमंत्रण देते हुए डॉ नीतू कुमारी नवगीत ने गाया- ‘वीणा के बजईया, सातों सुर के रचईया, हंस पर सवार होके आजा मोरी मईया, विनती हजार करी तानी, सुनी हे मईया शारदा भवानी…’ कार्यक्रम के दौरान माहौल पूरी तरह से भक्तिमय रहा. सर्द हवाओं के बीच लोगों ने वसंत ऋतु के स्वागत में गाए गए गीतों का भी लुत्फ उठाया.

साईं क्लब द्वारा भोजपुरी गीतों के कार्यक्रम के बाद जागरण का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया. पूजा में शामिल होने एन कॉलेज के प्राचार्य शशि प्रताप शाही भी पधारे. कार्यक्रम को सफल बनाने में रजनीश कुमार और रिंकू सिंह की प्रमुख भूमिका रही. कार्यक्रम के दौरान बिहार विधानसभा के सदस्य बिहार विधानसभा के सदस्य संजीव चौरसिया, भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री सुशील चौधरी, भाजपा के उपाध्यक्ष दिवेश कुमार, नीता सिन्हा, सुमित कुमार, बिट्टू, राणा सोनू आदि उपस्थित रहे. लोकगीतों के कार्यक्रम में नीतू कुमारी नवगीत को हारमोनियम पर राकेश कुमार, नाल पर मनोज कुमार सुमन और कैसी हो पर सुजीत कुमार ने संगत दिया. कार्यक्रम में राकेश कुमार ने साईं तेरी याद भजन भी प्रस्तुत किया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*