तिवारी के अनशन से जागी सरकार, मंगलवार को बुलाई आपात बैठक

लाइव सिटीज डेस्क: बिहार प्लेयर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय तिवारी के आमरण अनशन तीसरे दिन रंग लाया. सामान्य प्रशासन विभाग के अधिकारी जगे. उन्होंने इस मुद्दे पर मंगलवार को एक आपात बैठक बुलाई है. इस बैठक के दौरान सामान्य प्रशासन और कला, संस्कृति और युवा विभाग के आला अधिकारी मौजूद रहेंगे.


गौरतलब है कि खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी की बहाली प्रक्रिया में हो रही देरी के खिलाफ श्री तिवारी शनिवार से आमरण अनशन पर थे. मोइनुल हक स्टेडियम के बाहरी परिसर में आमरण अनशन पर बैठे मृत्युंजय तिवारी को अनशन खत्म करने को लेकर दिन भर मान मनौब्वल का दौर चलता रहा. कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के निदेशक (छात्र व युवा कल्याण) संजय कुमार सिन्हा, बिहार राज्य खेल प्राधिकरण के महानिदेशक अरविंद पांडेय और निदेशक सह सचिव आशीष सिन्हा ने धरनास्थल पर पहुंच कर उनसे आमरण अनशन समाप्त करने की गुजारिश की, परंतु वे नहीं माने.मृत्युंजय तिवारी ने इन सबों से सिर्फ यही कहा कि आप सामान्य प्रशासन विभाग के आला अधिकारियों से यह घोषणा करवा दीजिए कि अमुख तारीख को खिलाड़ियों की नियुक्ति हो जायेगी. उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में अगर हमारे राष्ट्रीय खेल हॉकी के एक खिलाड़ी की बहाली हो जाती तो हम कुछ नहीं बोलते.उन्होंने कहा कि जबतक सरकार का कोई बड़ा अधिकारी यह घोषणा नहीं कर देता है कि सामान्य प्रशासन विभाग इस तारीख से खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र दे रहा है तबतक हम यहां डटे रहेंगे. हमें सिर्फ खिलाड़ियों की नौकरी से मतलब है बाकी हमें कुछ नहीं चाहिए.

सुबह हो बिगड़ गई थी तबीयत
खेल विभाग की बंद पड़ी आंख को खोलने के लिए आमरण अनशन पर बैठे मृत्युंजय तिवारी की तबीयत सोमवार की सुबह अचानक खराब हो गई. उन्हें अचानक तेज सिर में दर्द उठा और उसके बाद उल्टी होने लगी. इसके बावजूद वे अनशन पर अड़े रहे. खिलाड़ियों ने बिगड़ती तबीयत देख डॉक्टर को बुलाने को कहा तो उसपर भी वे नहीं मानें.उनकी बिगड़ती तबीयत की सूचना सून स्टेडियम परिसर में चल रहे बॉस्केटबॉल टूर्नामेंट में स्थानीय व अन्य प्रदेश से आए मेहमान खिलाड़ी भी उनके मंच की ओर हो चले.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*